झज्जर पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी 

 समाचार क्यारी, बहादुरगढ़,संजय शर्मा/ रवि कुमार :- अपराध जांच शाखा द्वितीय बहादुरगढ़ की टीम ने गुप्त सुचना पर कारवाई करते हुऐ जेल से छुट्टी के बाद भगौड़ा हत्या के मामले में अदालत द्वारा दोषी ठहराए गये एक अति वांछित पैरोल जम्पर अपराधी को अवैध हथियार के साथ गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। पकड़ा गया अतिवांछित अपराधी पिछले करीब 13 वर्षो से पैरोल पर जेल से बाहर आकर फरार चल रहा था। अति वांछित पैरोल जंपर अपराधी को अपराध जांच शाखा द्वितीय बहादुरगढ़ की टीम ने मुस्तैदी से कार्यवाही करके बहादुरगढ़ शहर के एरिया से काबू किया। मामले की जानकारी देते हुऐ बहादुरगढ़ के डीएसपी अजायब सिंह ने बताया कि एसएसपी श्री अशोक कुमार आईपीएस के दिशा निर्देशानुसार विशेष रूप से अपराधों की रोकथाम तथा वांछित अपराधियों की धरपकड़ के लिए उप निरीक्षक सत्यवान के नेतृत्व में अपराध जांच शाखा द्वितीय बहादुरगढ़ का गठन किया गया था। उन्होंने बताया कि एसएसपी श्री अशोक कुमार द्वारा वांछित उद्घोषित, पैरोल जम्पर तथा अतिवांछित अपराधियो को पकड़ने के लिये विशेष रूप से कड़े निर्देश किये गए थे। जिनके तहत अपराध जांच शाखा द्वितीय बहादुरगढ़ में तैनात मुख्य सिपाही राजेश कुमार के नेतृत्व में पुलिस की टीम बहादुरगढ़ के शहरी इलाका में गश्त पर थी। टीम को गुप्त सुचना मिली कि गांव सुर्खपुर जिला झज्जर निवासी मनवीर उर्फ काला जोकि हत्या के मामले में अदालत द्वारा दोषी ठहराया गया अपराधी है । जिसे उम्र कैद की सजा हुई थी। वह सोनीपत जेल से पैरोल की छुट्टी लेकर बाहर आया था। छुट्टी पूरी होने के बाद वह वापिस जेल में ना जाकर फरार हो गया था । वह फिलहाल बादली चुंगी बहादुरगढ़ के एरिया में बने एक पार्क में मौजूद है। जिसके पास अवैध हथियार भी हो सकता है। गुप्त सूचना पर पुलिस टीम ततपरता बादली चुंगी के एरिया में पार्क के पास मौका पर पहुंची। पुलिस टीम ने पूरी सतर्कता से कारवाही करते हुऐ एक व्यक्ति को शक की बिनाह पर काबु किया। मौका पर तलाशी ली गई तो उसके कब्जे से 315 बोर का एक देशी पिस्तौल वह एक जिंदा कारतूस बरामद हुआ। पुछताछ में पकड़े गये आरोपी की पहचान मनवीर उर्फ काला उर्फ धीरे उर्फ लंबू पुत्र जयबीर निवासी गांव सुर्खपुर जिला झज्जर के तौर पर की गई। पकड़े गए अति वांछित दोषी के खिलाफ शस्त्र अधिनियम के तहत कार्रवाई करते हुए थाना शहर बहादुरगढ़ में मामला दर्ज किया गया।
             बुधवार को विशेष रूप से आयोजित पत्रकार वार्ता में जानकारी देते हुए डीएसपी अजायब सिंह ने बताया कि पकड़े गए वांछित पैरोल जम्पर अपराधी ने प्राथमिक पुछताछ में पैरोल से फरारी के दौरान अनेक आपराधिक वारदात करने का खुलासा किया। उन्होंने बताया कि अवैध हथियार के साथ पकड़ा गया पैरोल जंपर दोषी मनवीर ने जून 2003 में अपने अन्य साथियों के साथ मिलकर दिल्ली निवासी एक युवक हरदीप का अपहरण करके गांव गिरावड़ थाना झज्जर के एरिया में हत्या की वारदात को अंजाम दिया था। जिसके सम्बन्ध में थाना झज्जर में दिनांक 07 जून 2003 को हत्या सहित विभिन्न धाराओं के तहत आपराधिक मामला दर्ज किया गया था। हत्या के उपरोक्त मामले में 22 मार्च 2006 को माननीय अदालत द्वारा दोषी ठहराते हुऐ उसे उम्र कैद की सजा सुनाई गई थी। सजा के दौरान वह सोनीपत जेल से 30 नवंबर 2006 को तीन सप्ताह की पैरोल की छुट्टी लेकर जेल से बाहर आया था। छुट्टी पूरी होने के बाद उसे 22 दिसंबर 2006 को वापिस जेल में हाजिर होना था। किंतु वह छुट्टी पूरी होने के पश्चात जेल में हाजिर ना होकर फरार हो गया था। तब से वह लगातार पुलिस की पकड़ से फरार चल रहा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *