भाइयों और बहनों यह राजनीति है संभल कर निर्णय लें” – प्रियंका गांधी

रोहतक समाचार क्यारी:
बुधवार का दिन रोहतक की राजनीति के लिए किसी बड़े इतिहास से कम नहीं रहा यूं तो लोकसभा चुनाव 2019 को लेकर प्रदेश में लगातार राजनीतिक उथल-पुथल जारी है लेकिन बुधवार को इन समीकरणों में एक नया अध्याय जुड़ा प्रियंका गांधी के रोड शो के रूप में ।आपको बता दें कि अब तक के रोहतक के राजनीतिक इतिहास में इतना भव्य रोड शो नहीं देखा लाखों लाख लोगों की भीड़ सड़कों पर प्रियंका गांधी के समर्थन में खड़ी नजर आई ।
वहीं करीब 3 घंटे के रोड शो के खत्म होने के बाद प्रियंका गांधी ने रोहतक में अपने सभी समर्थकों को संबोधित किया । इसी संबोधन के दौरान प्रियंका गांधी के भाषण में एक जगह प्रधानमंत्री मोदी को निशाना बनाते हुए उन्हीं के भाषण शैली भी दिखे जब प्रियंका गांधी ने जनता से कहा “भाइयों और बहनों यह राजनीति है सोच समझ कर विश्वास कीजिएगा” । वहीं अपने भाषण में सीधे तौर पर प्रधानमंत्री मोदी और बीजेपी को निशाना बनाते हुए सोनिया गांधी ने लोगों से अपील की की झूठे वादों और विचारों को खुद पर हावी ना होने दें ।
अपनी भाषा में प्रियंका गांधी ने प्रमुखता से रोजगार और किसानों की समस्याओं को उठाया उन्होंने कहा की इन 5 साल के कार्यकाल में देश की राजनीति अपने न्यूनतम स्तर पर पहुंच चुकी है देश को बताया जा रहा है कि हमने विकास किया देश में प्रगति हुई पर सच यह है कि आज इस देश में 50000000 रोजगार घट गए हैं केंद्र की तरफ से 24 लाख सरकारी नौकरियों के पद खाली है जिन्हें भरने का कष्ट आज तक नहीं किया गया ।
यह देश का विकास करने वाली सरकार पूरे देश से नंगे पैर दिल्ली पहुंचे किसानों के लिए 5 मिनट का वक्त नहीं निकाल पाई उनकी समस्याओं को सुलझाना तो दूर की बात सुन भी नहीं पाए इन्हीं की इस नकारात्मक राजनीति का असर है कि आज 12000 किसानों ने आत्महत्या की है लेकिन फिर भी कुछ लोग देश की प्रगति का नारा बुलंद करने में लगे हुए है।
आज राजनीति इस हाल में पहुंच गई है कि अगर कुछ भी कहने को ना बचे तो शहीदों पर उंगली उठा दी जाती है। इन्होंने मेरे शहीद पिता को नहीं बख्शा तो किसी और की इज्जत क्या करेंगे ।
○मेरी बेटी ने कहा नकारात्मकता मत फैलाना
वहीं अपने भाषण के दौरान कुछ भावुक हो अपने बच्चों को याद करते हुए प्रियंका गांधी ने कहा कि आज से 3 महीने पहले जब मैं सक्रिय राजनीति में उतरी तो मेरे बच्चे खुश हुए थे उनका कहना था अच्छा है मा राजनीति में उतर कर अब कुछ अच्छा कर पाएंगे उसी वक्त मेरी बेटी ने मेरे पास आकर कहा मां राजनीति तो कीजिए कभी भी नकारात्मकता मत फैलाना . बच्चों के दिल से निकली हुई बात हमेशा सही होती और आज राजनीति में आकर 3 महीने गुजारने के बाद मैं इतनी नकारात्मकता का सामना कर चुकी हूं कि अब लगता है कि वाकई इसे जड़ से खत्म कर देना चाहिए ।
○रोहतक से मिले प्यार ने मुझे शर्मिंदा कर दिया
रोहतक से जो प्यार और अपनापन मुझे आज मिला है उसकी उम्मीद मैंने नहीं की थी इस प्यार ने आज मुझे शर्मिंदा कर दिया है लेकिन मैं आज आप सब से यह वादा करके जाते हैं कि आपके इस प्यार को मैं हमारी कांग्रेस पार्टी और दीपेंद्र हुड्डा कभी भी शर्मिंदा नहीं होने देंगे आपकी उम्मीदों पर खरे सोने से खरे साबित होंगे ।
आपको बता दें कि प्रियंका गांधी के रोड शो के दौरान पूरे रोहतक क्षेत्र में जाम सी परिस्थितियां बनी हुई थी सुबह से ही लोगों का रोहतक में आना शुरू हो गया था । जिसके बाद लगातार कांग्रेस समर्थकों का ता ता ता शहर में लगता रहा।
आपको बता दें कि रोहतक की राजनीतिक इतिहास है अब तक किसी भी रोड शो में इतना ज्यादा जनसमर्थन शायद ही कभी देखा गया हो ।
○प्रशासन के पुख्ता इंतजाम
राजनीतिक हलचल और बयान वाजियों के बीच इस पूरे रोड शो में एक और खास चीज सामने आइ और वह थी प्रशासन के पुख्ता इंतजाम भले ही पूरा रोहतक प्रियंका गांधी और कांग्रेस के समर्थन में सड़कों पर उतर आया हो लेकिन फिर भी रोहतक शहर में कानून व्यवस्था को और आमजन की सुविधा सुविधा का ध्यान रखते हुए प्रशासन ने पुख्ता इंतजाम किए थे जिनका असर भी पूरे रोड शो के दौरान और उसके बाद सामने आया इतने बड़े पैमाने पर भीड़ कर खड़ा होने के बाद भी किसी भी तरह की कोई भी दुर्घटना सामने नहीं आई है ।
○युवाओं से लेकर 100 साल के बुजुर्ग भी डटे रहे
इस बार कांग्रेस समर्थकों में युवाओं से लेकर 100 साल के बुजुर्गों तक का जोश साफ दिखा रोहतक से ही नहीं बल्कि आसपास के गांव और जिला से भी भारी मात्रा में कांग्रेस समर्थ रोहतक पहुंच प्रियंका गांधी के रोड शो का हिस्सा बने इसी बीच युवा दिलों की धड़कन कहे जाने वाले दीपेंद्र हुड्डा के समर्थन में कई युवक और युवतियां पूरे रोड शो के दौरान उनकी गाड़ियों के काफिले के साथ इसी द्वारा गाड़ी के ऊपर चढ़कर कांग्रेस पार्टी जिंदाबाद के नारे लगाती युवतियां भी आकर्षण का केंद्र रही।
○ पैरों में पड़े छाले लेकिन रोड शो से जाने को नहीं तैयार
दीपेंद्र हुड्डा और प्रियंका गांधी के लिए दीवानगी का आलम तब सर चढ़कर बोल उठा पूरे रोड शो के दौरान कई ऐसे समर्थक सामने आए जिनके पैरों में छाले पड़ चुके थे लेकिन अपने साथियों के कई बार कहने के बावजूद उन्होंने रोड शो से जाने के लिए साफ मना कर दिया ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *