कांग्रेस ने विधायक दल की बैठक में अनुपस्थित रहने वाले चार विधायकों को रविवार को नोटिस जारी कर उनसे स्पष्टीकरण मांगा

कर्नाटक में कांग्रेस ने अपनी विधायक दल की बैठक में अनुपस्थित रहने वाले चार विधायकों को रविवार को नोटिस जारी कर उनसे स्पष्टीकरण मांगा कि दलबदल विरोधी कानून के तहत उनके खिलाफ कार्रवाई क्यों ना की जाए। कांग्रेस सूत्रों ने बताया कि जिन लोगों को नोटिस भेजे गए हैं उनमें रमेश जारकीहोली, बी नागेंद्र, उमेश जाधव और महेश कुमाताहल्ली हैं। जारकीहोली को हाल ही में मंत्रिमंडल फेरबदल में मंत्री पद से हटाया था और वह इसे लेकर अत्यधिक नाखुश बताए जा रहे थे।

चारों विधायक के शुक्रवार को कांग्रेस विधायक दल (सीएलपी) की बैठक में शामिल नहीं होने से पार्टी में दरार सामने आ गई। राज्य में जद(एस) के साथ पार्टी की गठबंधन सरकार को गिराने की भाजपा की कथित कोशिश के खिलाफ शक्ति प्रदर्शन के तौर पर यह बैठक बुलाई गई थी। इन चार विधायकों की अनुपस्थिति से सात महीने पुरानी कांग्रेस-जद(एस) सरकार पर अभी कोई खतरा नहीं है लेकिन साथ ही यह संकेत दिए कि कांग्रेस में सबकुछ ठीक नहीं है और वह अब भी असंतोष का सामना कर रही है।
कांग्रेस विधायक दल के नेता सिद्धरमैया ने जारकीहोली से उन मीडिया रिपोर्टों पर भी स्पष्टीकरण मांगा है कि वह भाजपा में शामिल हो रहे हैं और साथ ही दिल्ली तथा मुंबई में भगवा पार्टी के नेताओं से मुलाकात को लेकर उनसे स्पष्टीकरण मांगा गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *