श्रीलंका में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ के दौरान तीन आतंकियों ने खुद को उड़ाया

नई दिल्ली। इस्लामिक स्टेट ने दावा किया कि श्रीलंका के पूर्वी प्रांत में सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ के दौरान उसके तीन आतंकवादी मारे गए हैं, जिन्होंने खुद को उड़ा लिया था। मुठभेड़ शुक्रवार को उस समय हुई, जब सुरक्षा बल ईस्टर के मौके पर गिरजाघरों और होटलों को निशाना बनाकर किए गए धमाकों के लिए जिम्मेदार स्थानीय आतंकवादी समूह नेशनल तौहीद जमात (एनटीजे) के सदस्यों की तलाश कर रहे थे।

इन धमाकों में 253 लोग मारे गए थे और 500 से अधिक घायल हो गए थे। ‘कोलंबो गजट’ की एक रिपोर्ट के अनुसार आईएस की संवाद समिति ‘अमाक’ के जरिए आईएस ने एक बयान में कहा कि अबू हमाद, अबू सूफयान और अबू अल-का’का मारे गए। उसने कहा गया है कि उन्होंने स्वचालित हथियारों से गोलाबारी की और “गोला-बारूद खत्म होने के बाद, विस्फोटक बेल्ट के जरिए खुद को उड़ा लिया।”

गौरतलब है कि पुलिस के विशेष कार्य बल (एसटीएफ) और सेना के जवानों ने एक खुफिया सूचना के आधार पर कोलंबो से करीब 360 किलोमीटर दूर स्थित कलमुनई शहर में एक मकान पर छापा मारा था, जिसके बाद सशस्त्र समूह के साथ भीषण मुठभेड़ हुई। सशस्त्र लोगों ने जवानों पर गोलियां चलाईं।

मुठभेड़ की चपेट में आए एक नागरिक की भी मौत हो गई। हिंसक झड़पों के दौरान माना जाता है कि तीन लोगों ने विस्फोटकों से खुद को उड़ा लिया। मौके से छह बच्चों और तीन महिलाओं सहित कुल 15 शव बरामद हुए थे। पुलिस प्रवक्ता ने बताया था कि तीन संदिग्ध आत्मघाती हमलावर भी इन 15 लोगों में शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *