ज़मीन का जबरन अतिक्रमण करने वाले व्यक्ति के खिलाफ की जाए उचित कार्यवाही

कालका। शहरी एवं ग्रामीण इलाकों में रसूखदार व्यक्तियों द्वारा ज़मीन का अतिक्रमण करने की खबरें अक्सर देखने को मिलती रहती हैं। परंतु सम्बंधित विभाग द्वारा सब कुछ जानते हुए भी जानबूझकर इस मुद्दे को नजरअंदाज कर दिया जाता है। ऐसा ही एक मामला कालका शहर में देखने को मिला है। कालका स्थित बसंत विहार मकान नंम्बर 1856/3, निवासी सुनील चौधरी द्वारा दिनांक 19 मई 2020 को एक लिखित शिकायत नगर निगम कालका जोन पंचकूला के सचिव को की गई है। इस शिकायत में चौधरी ने कहा है कि मेरे मकान के साथ 9×20 फीट का व्यवसायिक प्लाट है, जोकि रंजीत कुमार कौंडल द्वारा रजिस्ट्री के अनुसार (आठ बिसवंसी) यानी 20 वर्ग गज (जिसका साइज 9 × 20 फीट) खरीदा हुआ है। आरोप लगाते हुए चौधरी ने कहा कि साथ में ही बची हुई जमीन पर रंजीत कुमार कौंडल द्वारा अतिक्रमण करते हुए 9 × 25 फीट की जगह पर निर्माण करना शुरू कर दिया है। सुनील चौधरी को आशंका है कि रंजीत कुमार द्वारा जबरन अतिक्रमण की हूई जमीन पर निर्माण करने उपरांत उसके घर में हवा और रोशनी में बाधा उत्तपन्न हो सकती है।
सुनील चौधरी ने अपनी शिकायत में लिखा है कि जब उसने अपनी आपत्ति जताते हुए रंजीत कुमार से बातचीत करनी चाही तो उसने कहा कि मैं 9×25 फीट की जगह पर ही निर्माण करूँगा, तुमने जहां शिकायत करनी है कर लो और वह लड़ने-झगड़ने पर भी उतारू हो गया। रंजीत कुमार कौंडल का कहना है कि उसके राजनीतिक सम्बंध है व उसकी पुलिस विभाग में भी अच्छी पकड़ है।
चौधरी ने बताया कि उसके द्वारा दिनांक 19 मई 2020 को ही कालोनी स्थित एसोसिएशन में लिखित एप्लिकेशन के माध्यम से इस मामले में दखल देकर मुद्दे को सुलझाने हेतु गुहार लगाई गई थी, परंतु लगातार 3 दिन तक एसोसिएशन के प्रधान सुनील वर्मा व पदाधिकारी राज कुमार धीमान से फोन पर तथा व्यक्तिगत रूप से भी सम्पर्क करने के बावजूद एसोसिएशन द्वारा कोई भी लिखित में जवाब नहीं दिया गया है। सुनील चौधरी ने स्थानीय प्रशासन, नगर निगम आयुक्त व प्रदेश सरकार से इस मामले में दखल देकर रंजीत कुमार कौंडल द्वारा जबरन अतिक्रमण करने पर, उस पर उचित कार्यवाही करते हुए निर्माण कार्य स्थगित करवाने की गुहार लगाई है।
क्या कहना है बिल्डिंग इंस्पेक्टर दर्शन लाल का।
सवांददाता द्वारा इस मुद्दे पर बातचीत करने पर दर्शन लाल ने बताया कि रंजीत कुमार कौंडल ने 9×20 फीट का ही नक्शा बनवाया है, उतनी जगह पर ही वह निर्माण करेगा। दर्शन लाल का यह भी कहना है कि यदि किसी व्यक्ति द्वारा बिल्डिंग निर्माण करने पर यदि उसके पड़ोसी के घर की हवा या रोशनी रुकती है तो हम किस आधार पर उसे निर्माण करने से रोक सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *