Breaking News

आरबीआई की नीतिगत घोषणा के बाद रुपया 76 पैसे टूट कर 69.17 प्रति डालर पर

भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा नीतिगत ब्याज दर में कटौती किये जाने लेकिन मौद्रिक नीतिगत रुख को ‘तटस्थ’ बनाये रखने के निर्णय के बीच रुपये की विनिमय दर में तीन सत्रों से चली आ रही तेजी थम गई। बृहस्पतिवार को भारतीय मुद्रा 76 पैसे की भारी गिरावट दर्शाता 69.17 रुपये प्रति डॉलर पर बंद हुई। रिजर्वबैंक ने चालू वित्तवर्ष के अपने पहले द्वैमासिक नीतिगत समीक्षा बैठक में ब्याज दरों में लगातार दूसरी बार 0.25 प्रतिशत की कटौती की जिससे रुपया तथा सरकारी बांड की कीमतें लुढ़क गईं।

बजार उम्मीद कर रहा था कि केंद्रीय बैंक अपना रुख नरम करेगा। अतंर बैंक विदेशी मुद्रा बाजार में रुपया 68.56 पर कमजोर खुला और दिन के कारोबार में 68.21 रुपये तक दिन के निचले स्तर तक नीचे चला गया। कारोबार के अंत में रुपया अपने पिछले बंद भाव के मुकाबले 76 पैसे की जोरदार गिरावट प्रदर्शित करता 69.17 रुपये प्रति डॉलर पर बंद हुआ।

बुधवार को रुपया 33 पैसे की तेजी के साथ 68.41 रुपये पर बंद हुआ था। बाजार सूत्रों ने कहा कि कच्चेतेल के बढ़ते मूल्य और प्रमुख वैश्विक मुद्राओं की तुलना में डॉलर के मजबूत होने से भी घरेलू मुद्रा की धारणा जोरदार ढंग से प्रभावित हुई।

बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों पर आधारित सूचकांक सपताहांत में 192.40 अंक अथवा 0.49 प्रतिशत की हानि के साथ 38,684.72 अंक पर बंद हुआ। 10 साल की परिपक्वता वाले सरकारी बांड पर निवेश प्रतिफल 0.06% बढ कर 7.3% पर पहुंच गयी। वैविश्वक बाजार में तेल की कीमतों में तेजी और अन्य प्रमुख मुद्राओं के समक्ष डालर की मजबूती का भी रुपये की स्थिति पर असर पड़ा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *