मोदी ने अपने गुरू आडवाणी को बाहर किया, क्या यह हिंदुत्व है : राहुल

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शुक्रवार को आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भाजपा के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी का अपमान किया है और अपने गुरू का अपमान करना हिंदू संस्कृति नहीं है। आडवाणी के प्रति किए गए व्यवहार के बाद बृहस्पतिवार को आए उनके (आडवाणी के) ब्लॉग को लेकर राहुल ने मोदी पर यह तंज कसा है। दरअसल, आडवाणी ने अपने ब्लॉग में कहा है कि भाजपा ने अपने राजनीतिक विरोधियों को कभी राष्ट्र विरोधी नहीं माना।

राहुल ने कहा, ‘‘भाजपा हिंदुत्व की बात करती है। हिंदुत्व में गुरू सर्वोच्च होता है। वह गुरू शिष्य परंपरा की बात करती है। मोदी के गुरू कौन हैं? आडवाणी हैं। मोदी ने आडवाणी को बाहर का रास्ता दिखा दिया (जूता मारके स्टेज से उतारा)। कांग्रेस अध्यक्ष की यह परोक्ष टिप्पणी आडवाणी को गुजरात में गांधीनगर सीट से भाजपा द्वारा उम्मीदवार नहीं बनाए जाने पर है। वहां से खुद भाजपा अध्यक्ष अमित शाह चुनाव लड़ रहे हैं। राहुल ने कहा, ‘‘2019 का चुनाव विचारधाराओं की लड़ाई है और कांग्रेस की विचारधारा भाईचारा, प्रेम और सौहार्द्र मोदी के नफरत, क्रोध और विभाजनकारी विचारधारा पर जीत हासिल करेगी।’’ उन्होंने यह भी कहा कि वह कांग्रेस के घोषणापत्र में किए गए वादा ‘न्यूनतम आय योजना’ की आलोचना से परेशान नहीं हैं।

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि अगर उनकी पार्टी सत्ता में आयी तो गरीब परिवारों को न्यूनतम आय के तौर पर हर साल 72,000 रुपये दिया जाएगा, जिससे करीब 25 करोड़ लोगों को फायदा होगा। इस कदम को उन्होंने गरीबी पर ‘सर्जिकल स्ट्राइक’ बताया है। उन्होंने कहा, ‘‘सभी पक्षकारों से विचार विमर्श के बाद घोषणापत्र तैयार किया गया है। न्याय योजना को लागू करने के लिए मध्यम वर्ग पर आयकर नहीं लगाया जाएगा और आयकर को नहीं बढ़ाया जाएगा। अगर उनकी पार्टी सत्ता में आयी तो इस योजना में हर साल गरीब लोगों के बैंक खातों में 72,000 रुपये जमा कराए जाएंगे।’’

उन्होंने प्रधानमंत्री पर हर व्यक्ति के बैंक खाते में 15 लाख रूपये जमा करने का झूठा वादा करने का आरोप लगाते हुए कहा, ‘‘15 लाख रूपये बैंक खाते में नहीं दिए जा सकते क्योंकि अर्थव्यवस्था ध्वस्त हो जाएगी। लेकिन ‘न्याय’ लागू किया जा सकता है। ’’ उन्होंने कहा कि यदि कुछ अमीर लोगों के बैंक रिण माफ किए जा सकते हैं तो किसानों और जरूरतमंद लोगों के कर्ज क्यों नहीं माफ किए जा सकते? राफेल सौदे को लेकर उद्योगपति अनिल अंबानी पर निशाना साधते हुए राहुल ने कहा, ‘‘कागज का जहाज भी नहीं बना सकने वाले व्यक्ति ने सबसे बड़ा रक्षा अनुबंध हासिल कर लिया और उसकी जेब में सीधे 30,000 करोड़ रूपये जा रहे हैं। मनरेगा का पूरा बजट एक ही व्यक्ति को दे दिया गया।’’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *