राजनाथ बोले- आतंकवादियों को बढ़वा देने पर पाकिस्तान को कीमत चुकानी होगी

केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने पाकिस्तान को आतंकवादियों को बढ़वा देने और उन्हें आश्रय मुहैया कराने पर भारी कीमत चुकाने की चेतावनी दी है। श्री सिंह ने शनिवार को यहां तीन लोकसभा क्षेत्रों दक्षिण कन्नड, उडुपी चिकमंगलुरु और शिवमोगा के शक्ति केंद, प्रमुखों की बैठक का उद्घाटन करते हुए कहा कि यदि पाकिस्तान आतंकवादियों को बढ़वा देना और उन्हें आश्रय देना जारी रखता है तो उसे इसकी भारी कीमत चुकानी होगी। श्री सिंह ने कहा कि पिछले पांच वर्षों के दौरान देश ने पाकिस्तान के विरूद्ध तीन कार्रवाई की तथा दो कार्रवाईयों के बारे में तो सभी जानते हैं।

उन्होंने कहा,‘‘हम तीसरी कार्रवाई के बारे में अधिक कुछ कह नहीं सकते।’’ तीसरे हमले (बालाकोट) की चर्चा करते हुए श्री सिंह ने कहा कि यह लक्षित अभियान था जो खास खुफिया जानकारियों पर आधारित था। देश के कुछ हिस्सों में कश्मीरी युवकों पर हमले की घटनाओं का जिक्र करते हुए गृह मंत्री ने कहा कि इस संदर्भ में केंद सरकार ने सभी राज्यों एवं केंद, शासित प्रदेशों को अपने-अपने इलाकों में पढ़ रहे कश्मीरी छात्रों को पूरी सुरक्षा प्रदान करने का परामर्श जारी किया है। उन्होंने भाजपा कार्यकर्ताओं से कश्मीरी छात्रों की सुरक्षा में खड़ रहने की भी अपील की। श्री सिंह ने राज्य की जनता दल(एस)-कांग्रेस गठबंधन सरकार की आलोचना करते हुए इसे खिचड़-सरकार बताया। उन्होंने कहा कि राज्य में लोगों के कल्याण को काफी पीछे छोड़ दिया गया है।

उन्होंने कहा,‘‘जद(एस) नेता अपनी कुर्सी बचाने में लगे हुए हैं।’’ उन्होंने दावा किया कि 2028 तक भारत तीन शक्तिशाली देशों में शुमार होगा तथा भारतीय जनता पार्टी विश्व की सबसे बड़ राजनीतिक पार्टी के रूप में उभरेगी। श्री सिंह ने कहा,‘‘वर्तमान में अमेरिका, चीन और रूस तीन शक्तिशाली राष्ट्र है लेकिन 2028 तक भारत इन शक्तिशाली राष्ट्रों की लीग में शामिल हो जाएगा।’’ उन्होंने दावा किया,‘‘भाजपा सत्ता हासिल करने के लिए राजनीति नहीं कर रही है बल्कि भारत और उसके लोगों को सशक्त बनाने के लिए कर रही है।

केंद, सरकार ने किसानों के लिए कई योजनाएं शुरू की हैं। लेकिन कर्नाटक राज्य सरकार किसान सम्मान निधि योजना के तहत पहली किस्त के रूप में 2,000 रुपये का ऋण देने के लिए किसानों का आंकड़ प्रदान नहीं कर रही है। राज्य में किसानों के ऋण माफ नहीं किए गए हैं क्योंकि सरकार को किसानों के बारे में कभी कोई चिंता नहीं है। श्री सिंह ने उन अर्थशास्त्रियों का भी उल्लेख किया जिन्होंने कहा है कि भारत दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्थाओं में से एक है। उन्होंने कहा,‘‘हम 2014 में नौवें स्थान पर थे। अब, हम छठे स्थान पर हैं और जल्द ही हम पांचवें स्थान पर होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *