हमें शहीदों पर नाज, देश की रक्षा-सुरक्षा पर राजनीति न हो : खट्टर

प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर लोहारू हलके के मिट्ठी गांव में पहुंचे और 24 फरवरी को जम्मू-कश्मीर के कुलगाव जिले के तरीगाम में तीन आतंकियों को कब्र में भेजने के बाद शहीद हुए नायब सुबेदार सोमबीर कादयान की पत्नी सुमन व परिवारजनों को ढाढस बंधाया। मुख्यमंत्री खट्टर ने शहीद के परिवार को 50 लाख रूपए की सहायता राशि तथा पत्नी को उनकी शिक्षा के अनुरूप नौकरी देने की घोषणा की। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा कि हमें अपने शहीदों पर नाज है।

देश की रक्षा व सुरक्षा सबका दायित्व है और इस पर किसी प्रकार की राजनीति नहीं होनी चाहिए। उन्होंने शहीद नायब सुबेदार सोमबीर कादयान की याद में गांव के लोगों की भावना के अनुरूप विचार करके कोई स्मारक या अन्य कोई निर्माण करवाने की बात कही। भिवानी-महेन्द्रगढ के सांसद चौ. धर्मबीर सिंह, प्रदेश के वित्त मंत्री कै. अभिमन्यु, प्रदेश भाजपा उपाध्यक्ष जेपी दलाल भी इस दौरान मुख्यमंत्री के साथ थे।

यहां गौरतलब होगा कि 4 फरवरी 1982 को मिट्ठी गांव के शेर सिंह कादयान के घर माता राजेन्द्री देवी की कोख से जन्मा सोमबीर कादयान 10वीं तक की पढाई कर 18 साल की उम्र में भारतीय सेना की 8 जाट रजीमेंट में भर्ती हो गया था। शहीद सोमबीर कादयान अपने पीछे पत्नी सुमन, पुत्री प्रिया व स्नेहा तथा पुत्र रोहित को छोड़कर गया है। उनकी पत्नी स्नातकोत्तर पास है और दिल्ली में ट्रेनिंग कर रही है। बड़ी बेटी प्रिया कक्षा 8वीं, स्नेहा कक्षा सातवीं व पुत्र रोहित कक्षा पांच में पढ रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *