जाट संगोष्ठी में  आरक्षण के दौरान जेल में बंद युवकों की रिहाई की उठी फिर से मांग।

Spread the love
नजफगढ़ ,समाचार क्यारी, संजय शर्मा रवि कुमार:- अखिल भारतीय जाट महासभा के बैनर तले नजफगढ़ के जाट भवन में जाट संगोष्ठी के दौरान जाट समाज के प्रबुद्ध वक्ताओं ने हरियाणा में आरक्षण आंदोलन के दौरान गिरफ्तार युवकों की रिहाई की मांग को जोरदार तरीके से उठाते हुए कहा कि जाटो का इतिहास गौरवशाली व  गौरवमयी रहा है और आज जेलों में बंद युवकों की रिहाई के लिए अखिल भारतीय जाट समाज एकजुट होकर संघर्ष करने का आह्वान करता है, इस अवसर पर अखिल भारतीय जाट महासभा के नवनियुक्त युवा राष्ट्रीय अध्यक्ष विक्रम सिंह देसवाल ने उपस्थित जनों को यह आश्वासन दिलाते हुए कहा कि मैं इस नई जिम्मेदारी का अपने पद का  ईमानदारी से निर्वहन करूंगा और आरक्षण आंदोलन के दौरान जेल में बंद जाट समाज के युवकों की रिहाई के लिए शीघ्र ही सलाह मशवरा कर बड़े कदम उठाए जाएंगे, जाट समाज की उन्नति ,उत्थान के लिए युवाओं को साथ लेकर बुजुर्गों के आशीर्वाद से ईमानदारी से कार्य करूंगा ।
जाट संगोष्ठी के दौरान विभिन्न वक्ताओं ने अपने संबोधन में जाट समाज में व्याप्त कुरीतियों, बुराइयों को दूर करने का आह्वान करते हुए कहा कि आज समाज को संगठित होकर एक दूसरे की मदद कर ,समाज के हित में कार्य करना होगा। विभिन्न वक्ताओं ने  जाट समाज के नेताओं से आह्वान करते हुए कहा कि आज हमें पार्टी, दलों व क्षेत्रवाद की भावना से ऊपर उठकर एकजुट होकर संगठित होकर जाट समाज के हित में कार्य करना चाहिए ।
जाट संगोष्ठी के दौरान 36 बिरादरी के भाईचारे को मजबूत करने व समाज में बढ़ती हुई खाई को पाटने के लिए प्रयास करने की भी आवाज उठी।   नवनियुक्त युवा राष्ट्रीय अध्यक्ष विक्रम सिंह देशवाल ने सभी जाट समाज के उपस्थित लोगों का धन्यवाद करते हुए आभार प्रकट किया व कहा कि जाट समाज द्वारा दी गई इस महत्वपूर्ण जिम्मेदारी का मैं हर चुनौतियों से मुकाबला करते हुए जाट समाज के हित व भले के लिए कार्य करूंगा। नजफगढ़ के जाट भवन में जाट संगोष्ठी के दौरान जाट समाज की प्रमुख विभूतियों, गणमान्य व्यक्तियों का पगड़ी बांधकर  स्वागत किया गया।
 इस अवसर पर विभिन्न राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों समेत समाज के गणमान्य जन उपस्थित रहे।
जाट संगोष्ठी के दौरान जाट समाज के युवाओं ने अखिल भारतीय जाट महासभा के युवा राष्ट्रीय अध्यक्ष विक्रम सिंह देशवाल का  फूलों की मालाओं से स्वागत किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *