हिंदी के पेपर में खूब चली नकल, खाकी ही बनी मददगार

Spread the love

बारहवीं कक्षा के हिंदी के पेपर में भी शनिवार को जमकर नकल चली। बाहरी तत्वों को खदेड़ने के लिए परीक्षा केंद्रों के बाहर और अंदर तैनात किए गए पुलिसकर्मी ही पर्चियां अंदर तक पहुंचाते दिखे। जिले के विभिन्न परीक्षा केंद्रों पर पेपर के दौरान बाहरी हस्तक्षेप होने की सूचना है। इसके चलते धारा-144 की धज्जियां उड़ती नजर आई। शहर के राजकीय कन्या स्कूल के परीक्षा केंद्र की छत पर तो नकल डालने आए युवक डेरा डाले रहे। वहां तैनात पुलिस कर्मियों ने इन्हें वहां से भगाने तक की जहमत नहीं उठाई।
जिले में शनिवार को शिक्षा बोर्ड की 12 वीं कक्षा के हिंदी विषय की परीक्षा आयोजित की गई। गांव सारंगपुर स्थित राजकीय स्कूल के परीक्षा केंद्र से दो ड्यूटी सुपरवाइजर को रिलीव किया गया है। शहर और गांवों में बने परीक्षा केंद्रों में बाहरी लोगों के मौजूद होने से धारा-144 का सरेआम उल्लंघन हो रहा है। परीक्षा शुरू होने से पहले ही लोगों की भीड़ परीक्षा केंद्रों के बाहर जमा हो गई ताकि प्रश्न पत्र बंटते ही उसे आउट कर अंदर पर्चियां पहुंचाई जा सकें। हालांकि बोर्ड द्वारा गठित उड़नदस्ते परीक्षा केेंद्रों में 30 से 40 मिनट में पहुंच रहे हैं लेकिन नकल रुक नहीं रही। केंद्रों के बाहर पुलिस बल भी तैनात है लेकिन कई जगह पुलिस की लापरवाही ज्यादा देखने में आ रही है। शहर के राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में लोग सीढ़ी लगाकर परीक्षा केंद्र के भवन में घुसने का प्रयास करते देखे गए।

डीईईओ फ्लाइंग को भी नजर आया बाहरी हस्तक्षेप
डीईईओ के उड़नदस्ते में शामिल डाइट प्रवक्ता छत्र सिंह और प्रवक्ता उर्मिल ने गांव बिरही कलां, झोझूकलां व गांव छपार स्थित परीक्षा केंद्रों का निरीक्षण किया। यहां बाहरी लोगों का हस्तक्षेप नजर आया। डिप्टी डीईओ कुलदीप फौगाट के उड़नदस्ते ने राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय सारंगपुर परीक्षा केंद्र, नगर स्थित आदर्श स्कूल गांधी नगर और मिसरी परीक्षा केंद्र का निरीक्षण किया। गांव मिसरी में नकल फेंकते युवा दिखे।

अपने ही स्कूल में ड्यूटी देते मिले सुपरवाइजर
सारंगपुर परीक्षा केंद्र से दो ड्यूटी सुपरवाइजर को रिलीव किया गया है। इन दोनों सुपरवाइजर की सारंगपुर स्कूल में पोस्टिंग होने की वजह से उन्हें रिलीव किया गया है। शिक्षा बोर्ड ने प्रावधान कर रखा है कि जिस स्कूल में बच्चे परीक्षा दे रहे हैं। वहां उसी स्कूल के शिक्षक ड्यूटी नहीं दे सकते। विभाग अधिकारियों ने ड्यूटी सुपरवाइजर महावीर सिंह और मनोज को रिलीव कर दिया है। एक सुपरवाइजर की जगह रिजर्व में चल रही अध्यापिका सविता को ड्यूटी सुपरवाइजर लगाया गया है।

पुलिस सुरक्षा में पेपर देने पहुंचा कैदी
शहर के राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय स्थित परीक्षा केंद्र में दिल्ली से कैदी भी परीक्षा देने पहुंचा। परीक्षा शुरू होने से पहले दिल्ली से कड़ी सुरक्षा के बीच पुलिस कैदी को परीक्षा केंद्र तक ले गई। इस दौरान सुरक्षा में पुलिस मुस्तैद रही। जब तक कैदी ने पेपर दिया पुलिस वाहन के चारों तरफ मुस्तैद खड़ी रही।

बौंदकलां परीक्षा केंद्र पर बढ़ाई पुलिस कर्मियों की संख्या
शनिवार को बौंदकलां गवर्नमेंट सीनियर सेकेंडरी स्कूल के नए भवन स्थित परीक्षा केंद्र में जिला प्रशासन ने आठ पुलिस कर्मचारियों को नकल रोकने के लिए तैनात किया। महाराणा प्रताप सीनियर सेकेंडरी स्कूल में भी पांच पुलिस कर्मचारी मुस्तैद नजर आएं रॉयल इंटरनेशनल सीनियर सेकेंडरी और आदर्श सीनियर सेकेंडरी स्कूल के परीक्षा केंद्रों पर भी पुलिस ने बाहरी तत्वों को परीक्षा केंद्रों के पास नहीं फटकने दिया।

बीईओ श्रीकिशन ने बताया कि ग्यारह परीक्षा केंद्रों में 12वीं की परीक्षा आयोजित की गई। जिनमें 1822 विद्यार्थी परीक्षा में बैठे। कस्बे में चार फ्लाइंग टीमों ने परीक्षा केंद्रों का निरीक्षण किया। गांव हड़ौदी और बेरला की ग्राम पंचायत का नकल रोको अभियान सराहनीय रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.