हम सभी पर स्वजन को राष्ट्ररक्षा के लिए न्यौछावर करने वाले हर परिवार का ऋण : मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंगलवार सुबह अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी पहुंचे और उन्होंने डीजल से विद्युत में परिवर्तित उच्च हार्स पावर के रेल इंजन को हरी झंडी दिखाई। उन्होंने बनारस हिंदू विश्वविद्यालय के मदन मोहन मालवीय कैंसर सेंटर का उद्घाटन भी किया। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पुलवामा आतंकी हमले में जवानों की शहादत पर कहा कि राष्ट्ररक्षा के लिए अपने स्वजनों को न्यौछावर करने वाले हर परिवार का रिण हम सभी पर हमेशा रहेगा।

पीएम मोदी ने यहां 3000 करोड रुपये से अधिक राशि की परियोजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण करने के बाद जनसभा में भाषण की शुरूआत वाराणसी के वीर सपूत रमेश यादव को श्रद्धांजलि देने के साथ की। उन्होंने कहा, ”सबसे पहले मैं पुलवामा में हुए आतंकी हमले में शहीद वाराणसी के वीर सपूत रमेश यादव को आदरपूर्वक अपनी श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं।” पीएम मोदी ने कहा, ”इस घडी में उनके परिवार के साथ काशी का हर व्यक्ति है, देश का हर नागरिक है। काशी की धरती से देश का प्रधान सेवक होने के नाते, उत्तर प्रदेश का प्रतिनिधि होने के नाते मैं आप सभी की भावनाओं का भी प्रतिनिधि हूं।”

प्रधानमंत्री ने दोहराया, ”राष्ट्ररक्षा के लिए अपने स्वजनों को न्यौछावर करने वाले हर परिवार का रिण हम सभी पर हमेशा हमेशा के लिए रहेगा। उनके इस रिण को चुकाने की शक्ति हम सभी को मिले, ये आशीर्वाद मैं बाबा विश्वनाथ से, मां गंगे से और आप सब भाइयों बहनों से मांगने आया हूं।” उन्होंने कहा कि आज स्वराज, स्वतंत्रता, स्वावलंबन और शौर्य के प्रतीक छत्रपति शिवाजी महाराज की जयंती भी है और ”मैं पूरे राष्ट्र को शुभकामनाएं देता हूं।

शिवाजी महाराज ने अपने सुशासन से हमें वो पथ दिखाया था, जिस पर चलकर हम एक सशक्त राष्ट्र बन सकते हैं।” वहां उन्होंने कहा, “सरकारें आती गई, बातें करती रही। लेकिन आपकी आशा कभी पूरी नहीं हुई। उसका पूरा करने की तरफ आज एक मंगल कार्य का आरम्भ हुआ है।”

पीएम मोदी ने कहा, पिछले 4 और 1/2 वर्षों में रेलवे को बदलने के लिए कई कदम उठाए गए हैं। सेमी-हाई स्पीड ट्रेन, वंदे भारत जो भारत में बनाई गई थी, इसका एक उदाहरण है। यह दुखद है कि कैसे इस ट्रेन को निशाना बनाया जा रहा है और कुछ लोगों ने इसका मजाक बनाया है।
हमारी सरकार देश के विकास को दो पटरियों पर आगे बढ़ा रही है। एक ट्रैक रेलवे, वायुमार्ग, इंटरनेट ….. जैसी बुनियादी संरचना है और दूसरा किसानों, मध्यम वर्ग और मजदूरों के जीवन को आसान बनाने का प्रयास है।

वाराणसी में एक कार्यक्रम में पीएम मोदी ने कहा, उन लोगों की पहचान करें जो अपने स्वार्थ के लिए जातिवाद फैलाते हैं, उसे बढ़ावा देते हैं। “चलता है” की मानसिकता बन गई थी, हमने लोगों का रूख बदलने का प्रयास किया। हमने शिक्षा, आय, दवा, सिंचाई की उपलब्धतता सुनिश्चित करने और जन शिकायतों के समाधान के लिए ‘पंचधारा’ पर ध्यान केंद्रित किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *