मोदी का विपक्ष पर तंज, मैं आतंकवाद और भ्रष्टाचार मिटाना चाहता और वो मुझे

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को कांग्रेस सहित अन्य विपक्षी दलों पर प्रहार करते हुए कहा कि सरकार की प्राथमिकता आतंकवाद, भ्रष्टाचार और कालेधन को खत्म करने की है जबकि विपक्ष की प्राथमिकता मोदी को खत्म करने की है।  पटना के गांधी मैदान में आज आयोजित राजग की संकल्प रैली को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा, ‘‘मेरी प्राथमिकता आतंकवाद, गरीबी, भ्रष्टाचार एवं कालाधन को खत्म करने की है पर उनकी प्राथमिकता मोदी को खत्म करने की है’’।

प्रधानमंत्री ने अपनी सरकार की उपलब्धियां गिनाते हुए कहा कि यह तभी संभव हो पाया है जब 2014 में आपने राजग को एक मजबूत जनादेश दिया। 2014 से लेकर अब तक का समय देश की बुनियादी आवश्यक्ताओं को पूरा करने का था। 2019 के बाद आगे का समय देश को 21वीं सदी में नई उंचाई पर पहुंचाने का है। बीते पांच वर्षों ने नए भारत की एक मजबूत नींव राजग के घटक दलों ने मिलकर तैयार की है। अब समय आ गया है कि इस मजबूत नींव पर सतत, समृद्ध नए भारत का निर्माण हो। उन्होंने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि देश में अगर ‘महामिलावट’ वाली सरकार रहती तो न फैसले होते और न ही गरीबों का कल्याण होता। इन लोगों की प्रवृत्ति अपना विकास करने की है। देश का विकास करने की नहीं है।
उन्होंने आरोप लगाया कि महामिलावट के घटक सिर्फ अपने स्वार्थ के लिए जीते हैं। उन्हें देश की कोई परवाह नहीं है न वे देश की परवाह करते हैं, यही सीख हमें उनके इतिहास और वर्तमान से मिली है। मोदी ने कहा कि जब हमारे देश की सेना आतंकवाद को कुचलने में जुटी है, सीमा के भीतर हो या सीमा के पार आतंक के ठिकानों पर प्रहार करने में लगी है तब ऐसे समय में देश के भीतर ही कुछ लोग क्या-क्या कर रहे हैं। देश की आवाज और हमारी सेना के हौसलों को बुलंद करने के बजाए वे ऐसी बातें कर रहे हैं जिससे दुश्मनों के चेहरे खिल रहे हैं। रैली को बिहार के मुख्यमंत्री और जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार, लोजपा प्रमुख और केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान और उपमुख्यमंत्री तथा भाजपा के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी ने भी संबोधित किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *