गुजरात में बोले PM मोदी- अगर आज राफेल होता तो परिस्थितियां अलग होती

नरेन्द्र मोदी ने सोमवार को उनके उस बयान पर सवाल खड़े करने के लिए विपक्ष पर निशाना साधा जिसमें उन्होंने कहा था कि राफेल लड़ाकू विमान होने से पाकिस्तान के साथ 27 फरवरी को हुई हवाई झड़प में आईएएफ को अधिक मारक क्षमता मिल जाती। राफेल विमान के मौजूद होने पर स्थिति कुछ और होने के प्रधानमंत्री के बयान पर वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल बी एस धनोआ ने कोई टिप्पणी करने से इनकार कर दिया। मोदी ने यहां लोगों को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘मैंने कहा था कि अगर राफेल समय पर मिल जाता तो (27 फरवरी को डॉगफाइट (विमानों के बीच लड़ाई) के दौरान) स्थिति अलग होती, लेकिन उन्होंने (विपक्ष) कहा कि मोदी हमारी वायु सेना के हवाई हमले पर सवाल खड़ा कर रहे हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘कृपया समझदारी का इस्तेमाल करें, मैंने कहा था कि अगर (विमानों के बीच लड़ाई) के दौरान हमारे पास राफेल होता, तो न हमारा कोई विमान गिरता और न उनका कोई विमान बचता।’’ भारत ने विमानों के बीच लड़ाई के दौरान एक मिग 21 गंवा दिया था, लेकिन इस मिग ने इससे पहले पाकिस्तानी वायुसेना के लड़ाकू विमान एफ-16 को मार गिराया था। मोदी ने 40 मिनट के अपने भाषण में कहा, ‘‘यदि वे (विपक्ष) मुझे नहीं समझ सकते तो मैं क्या कर सकता हूं। उनकी अपनी सीमाएं हैं।’’ राफेल विमान खरीद सौदे को लेकर बहुजन समाज पार्टी प्रमुख मायावती ने सोमवार को केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधा।

मायावती ने सोमवार को एक ट्वीट में कहा कि ‘‘पीएम मोदी का अपनी रैलियों में कहना है कि पाकिस्तान के साथ लड़ाई में राफेल विमान बहुत काम आ सकता था। ऐसी बात थी तो पिछले पांच वर्षों के इनके शासन में एक भी राफेल विमान क्यों नहीं भारतीय बेड़े में शामिल किया गया? भाजपा द्वारा देश की रक्षा सुरक्षा के साथ ऐसा खिलवाड़ क्यों?” पाकिस्तान के बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादी शिविर पर 26 फरवरी को किये गये हवाई हमले का सबूत मांगने वाले विपक्षी पार्टी के नेताओं के बयानों पर नाराजगी जाहिर करते हुए मोदी ने कहा कि उनका उद्देश्य आतंकवाद को खत्म करना है, जबकि विपक्ष का उद्देश्य उन्हें (मोदी को) हटाना है।

उन्होंने कहा, ‘‘आतंकवाद की बीमारी की जड़ पड़ोसी देश में है, क्या हमें इस बीमारी का इलाज जड़ से नहीं करना चाहिए।’’ यहां गुरु गोविंद सिंह अस्पताल के एनेक्सी भवन और विभिन्न अन्य विकास कार्यों का उद्घाटन करने के बाद मोदी ने कहा, ‘‘अगर भारत को तबाह करने की मंशा रखने वालों के ‘सरगना’ बाहर हैं, तो यह देश शांत नहीं बैठेगा।’’ मोदी ने बांद्रा-जामनगर ‘हमसफर एक्सप्रेस’ को भी हरी झंडी दिखाई और कई विकास परियोजनाओं की शुरूआत की जिसमें आजी-3 से खिजडिया तक 51 किलोमीटर पाइपलाइन भी शामिल है। उन्होंने कहा कि देश के सामने आने वाली चुनौतियों को दूर करने के लिए अल्पावधिक उपायों की जगह संरचनात्मक और दीर्घकालिक उपायों की आवश्यकता होती है। प्रधानमंत्री ने कहा कि पिछले कुछ वर्षों में गुजरात में बनाये गये अस्पतालों से गरीबों को बहुत लाभ होगा।

केन्द्र सरकार ने ‘आयुष्मान भारत योजना’ गरीब लोगों को सस्ती और गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य सेवा उपलब्ध कराने के लिए शुरू की है। मोदी ने गुजरात सरकार द्वारा जल संरक्षण के लिए अपनाये गये उपायों की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि सरकार के पास बड़े विलवणीकरण संयंत्र स्थापित करके लोगों को पानी उपलब्ध कराने की बड़ी योजना है। कांग्रेस की आलोचना करते हुए मोदी ने कहा कि पार्टी (कांग्रेस) का कार्यक्रम हर दस साल में कृषि ऋण माफी की घोषणा करना और लोगों को बेवकूफ बनाकर वोट बटोरना है। मोदी ने कहा, ‘‘हमारी सरकार हर वर्ष किसानों को सीधे वित्तीय सहायता देगी। जब 75 हजार करोड़ रुपये हर वर्ष ग्रामीण अर्थव्यवस्था में जाएंगे तो इसका सकारात्मक प्रभाव होगा।’

5 वर्षों के इनके शासन में एक भी राफेल विमान क्यों शामिल नहीं किया गया : मायावती 

राफेल विमान खरीद सौदे को लेकर बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमो मायावती ने सोमवार को केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने सोमवार को अपने ट्वीट में कहा कि ”पीएम मोदी का रैलियों में कहना है कि पाक के साथ लड़ाई में राफेल विमान बहुत काम आ सकता था।ऐसी बात थी तो पिछले 5 वर्षों के इनके शासन में एक भी राफेल विमान क्यों नहीं भारतीय बेड़े में शामिल किया गया? बीजेपी द्वारा देश की रक्षा सुरक्षा के साथ ऐसा खिलवाड़ क्यों?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *