फूड इंस्पेक्टर की आत्महत्या मामले में सरकार ने दिए CBI जांच के आदेश

न्यूज़: मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कोरोना वायरस (कोविड-19) की स्थिति पर गुरुवार को एक सर्वदलीय बैठक की अध्यक्षता की और कहा कि राज्य के वरिष्ठ राजनीतिक नेताओं ने संकट से निपटने के लिए सरकार द्वारा उठाए गए कदमों को पूरा समर्थन दिया है। सीएम ने कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए हरियाणा सरकार के कदमों का समर्थन करने पर राज्य के सभी नेताओं का आभार व्यक्त किया।

इस सर्वदलीय बैठक में यह भी निर्णय किया गया कि खाद्य आपूर्ति विभाग, कुरुक्षेत्र के निरीक्षक की आत्महत्या के मामले को जांच के लिए सीबीआई को सौंपा जाए। निरीक्षक आशीष ने शुक्रवार को जहरीला पदार्थ खाकर आत्महत्या कर ली थी। उनकी पत्नी ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी कि उनके पति ने ऐसा कदम विभाग के अधिकारियों द्वारा किए जा रहे उत्पीड़न की वजह से उठाया।

मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर कहा, “इस दौरान खाद्य, नागरिक आपूर्ति और उपभोक्ता मामले विभाग, कुरुक्षेत्र के एक इंस्पेक्टर की आत्महत्या मामले की जांच को केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) को सौंपने का भी निर्णय लिया गया है।”

मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में यह सर्वदलीय बैठक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से दो घंटे तक चली जिसमें पूर्व मुख्यमंत्री एवं नेता विपक्ष भूपेंद्र सिंह हुड्डा, उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला, गृह मंत्री अनिल विज और इनेलो विधायक अभय सिंह चौटाला तथा अन्य नेता मौजूद थे। बैठक के बाद सीएम ने ट्वीट कर कहा कि झज्जर, सोनीपत, गुरुग्राम और फरीदाबाद की सीमाओं से होनी वाली दैनिक यात्रा पर कड़ी रोक लगाए जाने के हालिया फैसले को पूर्ण समर्थन मिला। ये जिले राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के अंतर्गत आते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *