अब बिना राशन कार्ड वाले 9902 परिवारों को मिलेंगा नि:शुल्क राशन:- धीरेन्द्र खटगडा

समाचार क्यारी कुरुक्षेत्र (कर्मबीर) ,
कोरोना महामारी के कारण सरकार को लॉकडाउन के आदेश करने पड़े। इस लॉकडाउन के कारण प्रदेश में ऐसे गरीब और प्रवासी मजदूर राशन से वंचित रह गए, जिनके पास कोई भी कार्ड नहीं था। इन लोगों की स्थिति को देखते हुए मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने जनहित में फैसला लेते हुए बिना राशन कार्ड वाले परिवारों को डिस्ट्रैस राशन टोकन जारी करने का निर्णय लिया है। इस निणर्य से कुरुक्षेत्र जिले में 9902 परिवारों के लगभग 30527 सदस्यों को फायदा मिलेगा। इतना ही नहीं सरकार की योजना के अनुसार डिस्ट्रैस राशन टोकन के जरिए एक परिवार को 1 किलो दाल और 5 किलो गेंहू प्रति यूनिट नि:शुल्क दिया जाएगा। अहम पहलू यह है कि मई और जून माह का राशन जिलास्तरीय कमेटी की अनुमति के बाद बांटना शुरु कर दिया जाएगा।
मुख्यमंत्री मनोहर लाल के आदेशानुसार कोरोना महामारी में उत्पन्न हुई स्थिति व लॉकडाउन के मध्यनजर राज्य में गरीब व प्रवासी मजदूरों को मई व जून 2020 के लिए डिस्ट्रैस राशन टोकन जारी किए जाएंगे। सरकार की हिदायतों के अनुसार जिलास्तर पर एक कमेटी का भी गठन किया गया है और इससे पहले बिना राशन कार्ड वाले परिवारों की पहचान करने के लिए आनलाईन आवेदन भी आमंत्रित किए गए और प्रशासन द्वारा बूथ स्तर पर सर्वे भी करवाया गया। उपायुक्त धीरेन्द्र खडगटा ने मंगलवार को विशेष बातचीत करते हुए कहा कि राज्य सरकार के आदेशानुसार कुरुक्षेत्र जिले में सर्वे करवाया गया, जिनके पास किसी भी प्रकार का राशन कार्ड नहीं है, इस सर्वे में प्रधानमंत्री समृद्घ परिवार योजना
(एमएमपीएसवाई) एपीएल के 2073 परिवार, बीपीएल के सत्यापित 1302 परिवार, प्रशासन द्वारा बूथ स्तर पर गठित की गई कमेटी के जरिए करीब 6483 परिवारों के साथ-साथ 44 अन्य परिवारों की पहचान कर ली गई है।
उपायुक्त ने कहा कि राशन प्राप्त करते समय डीआरटी होल्डर द्वारा डिपूधारक केवल ओरिजनल डीआरटी और आधार पहचान पत्र ही देखेंगा, डिपूधारक द्वारा मैन्यूल रजिस्टर तैयार किया जाएगा और इस रजिस्टर में राशन वितरण और उपभोक्ता का पूरा विवरण दर्ज करेगा तथा इस रिकार्ड को उपनिरीक्षक या निरीक्षक द्वारा सत्यापित भी करवाएगा। इसके अलावा डीआरटी की मैपिंग का कार्य भी करवाया जाएगा। उन्होंने बताया कि जिला खाद्य एवं आपूर्ति विभाग की तरफ से डिस्टै्रस राशन कूपन वितरित करने की प्रक्रिया को तेजी के साथ पूरा किया जा रहा है। इस विभाग द्वारा क्षेत्र के अनुसार उपभोक्ताओं की सूचि तैयार की जा रही है।
इस सूचि को जिलास्तरीय कमेटी के समक्ष रखा जाएगा और कमेटी की अनुमति मिलते ही परिवारों को राशन वितरण का कार्य शुरु कर दिया जाएगा। सरकार की इस योजना से कुरुक्षेत्र जिले के 9902 परिवारों के 30527 से ज्यादा सदस्यों को फायदा मिलेगा। इन लोगों को मई और जून माह का राशन नि:शुल्क वितरित किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *