कूड़ा बीनने वालों की झुग्गियों में सुबह चार बजे लगी आग

चरखी दादरी। लोहारू रोड स्थित एक प्लॉट में कूड़ा बीनने वालों द्वारा बनाई गई झुग्गियों में बुधवार सुबह करीब चार बजे आग लग गई। घटना के समय सातों झुग्गियों में परिवारों के करीब 20 सदस्य सो रहे थे। ये सभी समय से आंख खुलने पर बच गए। वहीं, आग लगने से यहां रखीं बीयर की कैन भी हवा में उछलकर फूट गई और इस दौरान गोली चलने से धमाके हुए जोकि करीब 500 मीटर दूर स्थित शहीद भगत सिंह चौक तक सुनाई दिए। धमाकों की आवाज सुनकर लोग मौके पर पहुंचे तो आग लगने का पता चला। वहीं, सिटी थाना पुलिस और दमकल विभाग की टीम भी मौके पर पहुंची और करीब एक घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया जा सका। घटना में जहां कोई जनहानि नहीं हुई तो वहीं झुग्गी वालों का घरेलू और कबाड़ का सामान जलकर राख हो गया।
जानकारी के अनुसार लोहारू रोड स्थित एक खाली प्लॉट में कुछ समय पहले कूड़ा बीनने वाले सात परिवारों ने झुग्गियां बनाई थीं। मंगलवार रात सातों परिवारों के सभी लोग झुग्गियों में सो रहे थे। घटना के समय झुग्गियों में पांच पुरुष, सात महिलाएं और सात बच्चे थे। सुबह करीब 3.35 पर अचानक एक झुग्गी में आग लग गई। आग की लपटें हवा के झोंके के साथ फैलने लगी। देखते ही देखते आग ने दूसरी झुग्गियों और कबाड़ को भी अपनी चपेट में ले लिया।

कबाड़ में रखी बीयर की कैन भी आग लगने से जोरदार धमाकों के साथ फटने लगी। मौके पर पहुंचे सोनूनाथ, लीलू, आशीष ने बताया कि उन्हें लगा जैसे फायरिंग हो रही है। इसके बाद वे करीब 500 मीटर दूर स्थित झुग्गियों के पास पहुंचे तो पता चला कि आग में तपकर बीयर की कैन फटने से धमाके हो रहे हैं। वहीं, आगजनी की सूचना पाकर चार बजे दमकल विभाग की गाड़ी और सिटी थाना प्रभारी दलबीर सिंह भी मौके पर पहुंचे। वहां मौजूद लोगों ने करीब एक घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। तक तब सातों झुग्गियां राख हो चुकी थीं। गनीमत रही कि कोई जानी नुकसान नहीं हुआ। बताया जा रहा है कि झुग्गियों के ऊपर लोहे की टीन शेड डली थी। टीन शेड को पिछली तरफ जहां मकान की दीवार की स्पोर्ट थी तो वहीं, दो दीवारों की जगह सामान से भरे प्लास्टिक के कट्टे रखे थे। इन कट्टों तक पहुंचने के बाद आग और भड़क उठी। झुग्गियों से बाहर निकले परिवारों ने बताया कि अंदर दो सिलिंडर भी रखे हैं जोकि फट सकते हैं। इसका पता चलते ही वहां मौजूद युवा लीलू और सोनू ने इन सिलिंडरों को बाहर निकाल लिया।

दमकल विभाग के कर्मचारी की बजाय युवाओं ने बुझाई आग
प्रत्यक्षदर्शियों की मानें तो दमकल विभाग की टीम मौके पर पहुंची जरूर लेकिन आग बुझाने के लिए आगे नहीं बढ़ी। टीम के उदासीन रवैये को देखकर युवाओं ने दमकल विभाग की गाड़ी से पाइप खुद उतारा और अपने स्तर पर ही आग बुझाने की कवायद में जुटे। युवाओं ने बताया कि दमकल विभाग का एक कर्मचारी इसके बाद तमाशबीन बना रहा।

प्रत्यक्षदर्शी बोले: अस्पताल और पेट्रोल पंप भी थे पास
प्रत्यक्षदर्शी लीलू, सोनू और आशीष ने बताया कि जब वे मौके पर पहुंचे तो आग की लपटें ऊंची उठ रहीं थीं। इसके बाद उन्होंने दमकल विभाग की गाड़ी से पाइप निकाला और आग बुझाने में जुट गए। समय रहते आग पर काबू पा लिया गया वरना बड़ा हादसा हो सकता था। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि झुग्गियों के समीप अस्पताल और पेट्रोल पंप भी थे।

आग लगने की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई थी। समय रहते दमकल विभाग की गाड़ी से आग पर काबू पा लिया गया। घटना में कोई जानी क्षति नहीं हुई है। ये झुग्गियां एक खाली प्लॉट में बनाई गई थीं। – दलबीर सिंह, सिटी थाना प्रभारी

आग की सूचना मिलते ही हमारी गाड़ी मौके पर पहुंच गई थी। करीब एक घंटे बाद आग पर काबू पा लिया गया। नफे सिंह, दमकल कर्मी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *