स्कूलों में भय मुक्त वातावरण होना जरूरी : दास

रोहतक : हरियाणा शिक्षा विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव पीके दास ने कहा कि बच्चे मिट्टी के समान होते हैं और उनका मन कोमल होता है। स्कूलों में बच्चों की पढ़ाई के लिए भय मुक्त माहौल होना चाहिए। भय मुक्त माहौल में बच्चे ज्यादा सीखते हैं। उन्होंने कहा कि प्रत्येक बच्चे के मन में मानवीय गुणों को भरकर उससे जीवन में आगे बढने का मार्गदर्शन करें। उन्होंने कहा कि अध्यापक को अपने पेशे में पारंगत होना चाहिए, जिससे वह छात्रों को ठीक ढंग से शिक्षित कर उन्हें भविष्य में अच्छा नागरिक बनने की प्रेरणा दें।

अतिरिक्त मुख्य सचिव पीके दास शुक्रवार को महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय स्थित टैगोर सभागार में शिक्षा विभाग द्वारा आयोजित प्रवेश उत्सव एवं स्किल पासबुक कार्यक्रम की मण्डल स्तरीय कार्यशाला को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि यदि एक अध्यापक और छात्र के बीच सम्पर्क सही है तो एक पेड़ के नीचे बैठकर भी शिक्षा ग्रहण की जा सकती है।

स्कूलों में ऐसा माहौल तैयार करें ताकि स्कूल से बच्चे हररोज कुछ न कुछ नया सीख कर घर जाये। साथ ही एक छात्र की अध्ययन प्रगति का आकलन करना शिक्षक की प्राथमिक भूमिकाओं में से एक है। अध्ययन मूल्यांकन तंत्र पर आधारित एक शैक्षिक वातावरण वाली कक्षा में ये सुनिश्चित किया जा सकता है कि शिक्षक और छात्र दोनों ही सीखने और सीखाने पर अपना ध्यान केंद्रित कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *