लोकतंत्र में प्रतिनिधि को होना चाहिए जन के प्रति जवाबदेह – धनखड़

झज्जर, समाचार क्यारी संजय शर्मा: हरियाणा के कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री औमप्रकाश धनखड़ ने कहा कि राज्य की विधानसभा में बादली हल्के का प्रतिनिधित्व करते समय शुरू से ही मेरे मन में ऐसा भाव व विचार था कि लोकतंत्र में प्रतिनिधि को जवाबदेह होना चाहिए। इसीलिए समय-समय पर उन्होंने हल्के के लोगों को अपने काम का लेखा-जोखा दिया है। उन्होंने यह बात शुक्रवार को झज्जर में आयोजित संवाददाता सम्मेलन के दौरान जनसेवा, किसान सेवा व ग्राम विकास के पांच साल विषय पर आधारित अपना रिपोर्ट कार्ड जारी करते हुए कही।
श्री औमप्रकाश धनखड़ ने कहा कि बादली हलके के विधायक के कार्यकाल के तीन वर्ष पूरे होने पर उन्होंने सभी ग्राम पंचायतों को पीपीटी के माध्यम से ग्रामवार कराए गए कार्यों की जानकारी दी। हाल में संपन्न हुए लोकसभा चुनाव से पूर्व भी उन्होंने गांव-गांव जाकर अपना हिसाब-किताब ग्रामसभाओं में रखा और यह तीसरा अवसर है जब उन्होंने अपने काम-काज का संकलन रिपोर्ट कार्ड के माध्यम से क्षेत्रवासियों के समक्ष रखा है। मंत्री के नाते उन्होंने जनता के प्रति जवाबदेही का दायित्व निभाते हुए अपना रिपोर्ट कार्ड जारी किया है।
कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री ने बताया कि मंत्रीमंडल में शामिल होने के उपरांत मंत्रालय के माध्यम से होने वाले कार्यों के अतिरिक्त अनेक ऐसे कार्य भी किए जिनका उल्लेख सामाजिक विकास के क्षेत्र में बेहद महत्वपूर्ण है। उन्होंने समर्था संस्था के माध्यम से बादली हल्के की महिलाओं को स्वावलंबी बनाने के लिए सिलाई-कढ़ाई का प्रशिक्षण दिए जाने की जानकारी देते हुए कहा कि अगस्त तक ५५०० महिलाओं का प्रशिक्षण पूरा हो जाएगा। सीएसआर के माध्यम से इस कार्य पर तीन करोड़ रुपए खर्च हो चुके है। जिसके तहत महिलाओं को सिंगर कंपनी से प्रमाण पत्र व सिलाई मशीन भी वितरित की जा रही है।
उन्होंने कहा कि इसी तरह खेल व खिलाड़ी को प्रोत्साहन देने के लिए बादली हल्के में ५५०० खिलाड़ियों को ट्रैक सूट तथा विभिन्न अवसरों पर आयोजित दौड़ प्रतियोगिताओं को १५००० भागीदारों को टी शर्ट वितरित की गई। उन्होंने बताया कि बादली हरियाणा का ऐसा विधानसभा क्षेत्र है जिसके हर गांव में ओपन जिम की सुविधा है। क्षेत्र के सभी अखाड़ों को जिम के उपकरण, मैट व हॉल आदि सुविधाओं के लिए ऐच्छिक निधि से तीन करोड़ रुपए की राशि खर्च की गई। इसी तरह समाज के मिले दायित्व को उनके परिवार ने भी बखूबी समझा। उनकी धर्मपत्नी श्रीमती निरूपा धनखड़ ने जवाबदेही के भाव पर कार्य करते हुए क्षेत्र की करीब १५०० बुजुर्ग महिलाओं को धार्मिक स्थलों की यात्रा कराई।
उन्होंने कहा कि बादली को उपमंडल, खण्ड व तहसील का दर्जा दिलवाना, एम्स व कुण्डली-मानेसर-पलवल (केएमपी) एक्सप्रेस वे का त्वरित ढंग के निर्माण कराने की प्रमुख उपलब्धियां रही है। उन्होंने बताया कि रिपोर्ट कार्ड के अतिरिक्त शीघ्र ही उनके काम-काज का लेखा-जोखा कैलेंडर के माध्यम से भी प्रदर्शित किया जाएगा। ग्रामवार उपलब्धियों पर आधारित कैलेंडर में चार-पांच प्रमुख कार्य के फोटो व अन्य कार्यों का विवरण दिया गया है। बता दे कि कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री के व्यक्तित्व व कृतित्व से जुड़ी विभिन्न जानकारियां रिपोर्ट कार्ड में संकलित की गई है। आचायर् यशपाल व अभिनव बाल्यान द्वारा संपादित रिपोर्ट कार्ड में कृषि मंत्री के कार्यों पर गणमान्य व्यक्तियों जिनमें गुजरात के शिक्षा मंत्री भुपेंद्र सिंह चूड़ासमा, पूर्व सैनिक अशोक अहलावत, नेहा बादली, नूतन शर्मा, डेयरी फार्मिंग के प्रगतिशील किसान राजीव खुराना, पंचायती राज संस्थाओं के प्रतिनिधियों, पत्रकारों, समाजसेवी व विभिन्न क्षेत्रों के ख्याति लोगों के अनुभव पर फीडबैक लिया गया है।
इस अवसर पर हकृवि प्रबंधन बोर्ड के सदस्य आनंद सागर, प्रकाश माजरा, सोमबीर कोट, महेंद्र यादव सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति भी मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *