तंवर और हुड्डा को अब कांग्रेस आलाकमान के निर्णय का इंतजार

समाचार क्यारी: देश में अब कांग्रेस के अशोक तंवर और भूपेन्द्र सिंह हुड्डा को आलाकमान के निर्देशों को इंतजार है। प्रदेश प्रधान अशोक तंवर को चुनाव योजना एवं प्रबंधन ग्रुप की बैठकों पर आलाकमान की प्रतिक्रिया का इंतजार है। लगता है कि तंवर अब देखना चाह रहे हैं कि पार्टी आलाकमान उनके गु्रप की बैठकों को लेकर क्या रुख अपनाते हैं क्योंकि जब उन्होंने चुनाव योजना एवं प्रबंधन कमेटी का गठन किया था तो पार्टी प्रभारी गुलाम नबी आजाद ने इसको घर बैठ कर और बड़े नेताओं को बिना विश्वास में लिए गठित कमेटी बताया था।
उन्होंने तो यहां तक कहा था कि ए.आई.सी.सी. की ऐसी किसी भी कमेटी को मान्यता नहीं है। इसके बाद तंवर ने कमेटी की पहली बैठक में इसका नाम बदल कर कमेटी की बजाय ग्रुप कर लिया। इतना ही नहीं इस चुनाव प्रबंधन ग्रुप की उन्होंने गुरुग्राम में एक बैठक भी कर दी। बैठक में उन्होंने और ग्रुप के समन्वयक सुदेश अग्रवाल ने कांग्रेसजनों को चुनाव जीतने का मंत्र दिया परन्तु अब बताया गया है कि अशोक तंवर इसके आगे कोई कदम नहीं उठाएंगे।
हालांकि गुरुग्राम की बैठक में 15 अगस्त तक सभी चुनाव क्षेत्रों में बैठकें करने का निर्णय लिया गया था परन्तु लगता नहीं कि अभी वे बैठकों का सिलसिला प्रारम्भ भी करेंगे। अभी वे पार्टी आलाकमान के बुलावे का इंतजार करेंगे। अभी उनको यह भी इंतजार रहेगा कि क्या पार्टी आलाकमान उनको कारण बताओ नोटिस देती भी है या नहीं? दूसरी ओर भूपेन्द्र सिंह हुड्डा भी अभी आगामी कार्यक्रम बारे कोई निर्णय नहीं ले रहे हैं। उन्होंने मीडिया से खुद कहा है कि वह अभी पार्टी आलाकमान के निर्णय का इंतजार करेंगे।
हुड्डा को लगता है कि हरियाणा के बारे में आलाकमान सप्ताह भर में कोई कड़ा फैसला ले लेगी इसीलिए वह अभी चुप्पी साधे हुए हैं लेकिन इसी बीच चुनाव योजना एवं प्रबंधन ग्रुप के समन्वयक सुदेश अग्रवाल ने कांग्रेस के विवादित मुद्दे पर अपना पक्ष स्पष्ट करते हुए प्रदेश प्रधान अशोक तंवर का भी बचाव किया है। सुदेश अग्रवाल कांग्रेस नेता के रूप में पहली बार सामने आए हैं। उन्होंने तंवर विरोधी गुट पर सीधा हमला बोला है। उन्होंने गम्भीरता से सवाल उठाया है कि अशोक तंवर को पार्टी आलाकमान द्वारा प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया है। इसके बावजूद उन्हें बतौर अध्यक्ष स्वीकार न करना अनुशासनहीनता नहीं तो और क्या है?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *