कोविड-19 वैश्विक महामारी में कोरोना योद्धा की भूमिका में हैं होमगार्ड

– पूरी सजगता व सतर्कता का परिचय देते हुए अपनी ड्यूटी कर रहे होमगार्ड जवान
हर परिस्थिति में पूरे जज्बे के साथ होमगार्ड मुस्तैद :  जिला कमांडेंट
– कोरोना योद्धाओं की कार्यशैली को सलाम
झज्जर, 
आम दिनों में सड़क पर धूप में खड़े हो यातायात व्यवस्था को सुचारू बनाना हो, चुनाव के दौरान पोलिंग बूथ पर मुस्तैद रहकर ड््यूटी करनी हो अथवा अब कोविड-19 वैश्विक महामारी के दौर में चल रहे लॉकडाउन में जन जागरूकता के साथ ही अपना दायित्व निभाने का कार्य गृहरक्षी विभाग (होमगार्ड) द्वारा प्रभावी ढंग से किया जा रहा है। हर परिस्थिति में पूरी जिम्मेवारी के साथ ड्यूटी का निर्वहन करने में होमगार्ड के जवानों की अहम भागीदारी है। कोरोना योद्धा के रूप में होमगार्ड के जवानों का कार्य निश्चित तौर पर सराहनीय है।
वैश्विक महामारी की स्थिति में होमगार्ड के 283 जवान जिला कमांडेंट विजेंद्र कुमार के मार्गदर्शन में पिछले दो माह से पूरे समर्पण भाव से कोरोना संक्रमण चक्र को तोडऩे के लिए अपनी जिम्मेवारी को बखूबी निभा रहे हैं। होमगार्ड जवान कोविड-19 की रोकथाम के लिए लोगों को घरों में सुरक्षित रहने के साथ ही मास्क का उपयोग करने व शारीरिक दूरी बनाकर आवश्यक वस्तुओं की खरीद करने आए लोगों को भी प्रेरित कर रहे हैं। झज्जर जिला में कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए होमगार्ड के 237 जवान बेहद संजीदगी के साथ ड्यूटी दे रहे हैं। इनके अतिरिक्त वैश्विक परमाणु अनुसंधान केंद्र जसौर खेड़ी में 36 जवान, यूएचबीवीएन कार्यालय में 8 जवानों सहित दो जवान कार्यालय की ड्यूटी दे रहे हैं।
कोविड-19 के तहत लॉकडाउन के दौरान जरूरतमंदों व प्रवासियों को प्रशासनिक रूप से दिए जा रहे सहयोग में होमगार्ड की सहभागिता बेहद उल्लेखनीय है। प्रवासी श्रमिकों को उनके गृह जिलों में भेजने की व्यवस्थापूर्ण कार्य सहित सड़क पर यातायात व्यवस्था को निर्बाध रूप से बनाए रखने में योगदान दिया जा रहा है। जिला कमांडेंटविजेंद्र कुमार का कहना है कि कोविड-19 की जंग लडऩे के लिए हमें स्वयं मजबूत बनना होगा। यही कारण है कि वे अपने हर जवान को मानसिक रूप से मजबूती प्रदान करते हैं। समय-समय पर जवानों से संपर्क साधते हुए उनका मनोबल बढ़ाते हैं। हालांकि उनके पास सोनीपत व फरीदाबाद जिलों का भी अतिरिक्त कार्यभार है। इसके बावजूद अपनी टीम को हर मौके पर हिम्मत देते हैं। उनका कहना है कि होमगार्ड का जवान हर स्थिति के लिए तैयार है। आपदा के इस दौर में होमगार्ड के जवान राष्टï्रसेवा में पूरी निष्ठïा के साथ अपना दायित्व निभाते रहेंगे। झज्जर जिला में 12-12 घंटे की निंरतर ड्यूटी के साथ ही हर पल ऑन कॉल होने पर भी होमगार्ड जवान की सजगता प्रेरणास्रोत भी है।
कर्तव्य की पालना हो रही है प्रभावी ढंग से :
होमगार्ड जवान सतबीर, सुरेश, विनोद, संजय दत्त, नितानंद ने बताया कि कोरोना संक्रमण का फैलाव जिला में किसी भी रूप से न हो इसके लिए वे नियमित तौर पर लोगों को मास्क लगाने के लिए भी जागरूक कर रहे हैं। साथ ही जो जिम्मेवारी उन्हें दी जा रही है उसकी पालना प्रभावी ढंग से करते हुए वे अपना कर्तव्य निभा रहे हैं।
दो बार राष्टï्रपति सम्मान से नवाजे जा चुके हैं जिला कमांडेंट विजेंद्र :
झज्जर जिला के 283 होमगार्ड जवानों का यह जज्बा उनके जिला कमांडेंट विजेंद्र कुमार की कार्यशैली से प्रभावित है। झज्जर जिला कमांडेंट विजेंद्र कुमार दो बार उत्कृष्टï व सराहनीय कार्य के लिए राष्टï्रपति सम्मान से नवाजे जा चुके हैं। कुशल मार्गदर्शन से ही सेंटर कमांडर बिजेंद्र की देखरेख में झत्ज्जर जिला का हर होमगार्ड जवान पूरे उत्साह के साथ जनसेवा को समर्पित होकर ड्यूटी कर रहा है।

झज्जर जिला का हर शख्स आज वैश्विक महामारी से निपटने के लिए पूरी तरह से धैर्य के साथ दृढ़ संकल्प हो अपना जरूरतानुसार दे रहा है। बात होमगार्ड के जवानों की की जाए तो वे भी मानवता के नाते अपनी जिम्मेवारी का निर्वहन कोरोना योद्धा के रूप में कर रहे हैं। आपदा की इस घड़ी में राष्टï्रहित में योगदान देने वाले हर कोरोना योद्धा को जिला प्रशासन का सलाम है।
– जितेंद्र कुमार, उपायुक्त झज्जर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *