दीपेंद्र हुड्डा ने दादा और पिता से आगे राजनीति में अपना स्थान प्राप्त किया – जगबीर

दीपेंद्र हुड्डा ने दादा और पिता से आगे राजनीति में अपना स्थान प्राप्त किया – जगबीर
बादली, समाचार क्यारी. 2019 लोकसभा चुनावों में हरियाणा प्रदेश में रोहतक लोकसभा क्षेत्र सबसे ज्यादा सुर्खियों में रहा है और इसी लोकसभा क्षेत्र का बादली विधानसभा क्षेत्र भी बहुत महत्वपूर्ण भूमिका इन चुनावों में निभा सकता है इसी बात को ध्यान में रखते हुए समाचार क्यारी की पूरी टीम बादली हलके से चुनाव की हर छोटी-बड़ी हलचल आप तक पहुंचाने की कोशिश में लगी हुई है इसी दौरान बादली स्थित समाचार क्यारी के कार्यालय में मेरे सपनों का भारत कार्यक्रम में पहुंचे कांग्रेस के कार्यकर्ता जगबीर यहां पर उनसे बातचीत की समाचार जारी के एडिटर इन चीफ राजेश ने
○ आप राजनीतिक और सामाजिक तौर पर काफी जानकारी रखते हैं इस लिहाज से किस नेता को प्रदेश के लिए अच्छा मानते हैं ?
लोकसभा चुनावों में दीपेंद्र हुड्डा हम सभी की सबसे पहली पसंद है और सिर्फ पसंद ही नहीं हमें इस बात का विश्वास है कि रोहतक लोकसभा क्षेत्र से सांसद दीपेंद्र हुड्डा ही जीतेंगे इससे पहले भी तमाम हुई चुनावी रैलियों में दीपेंद्र हुड्डा ने खुद कहा है और पिछले 5 सालों में क्षेत्र की जनता ने उनके कामों को देखा है इसलिए हमें अपनी जीत के लिए किसी से वोट मांगने की जरूरत नहीं बस उन्हें काम को याद दिलाने की जरूरत है हमें विश्वास है की सांसद दीपेंद्र हुड्डा द्वारा किए गए विकास के कार्य और उनका सभी 36 बिरादरी को साथ में लेकर चलने का व्यक्तिगत व्यवहार निश्चित जीत दिलाएगा ।
○ पिछले 8 कार्यकाल में हरियाणा प्रदेश में हुड्डा परिवार की सरकार रही और 3 कार्यकाल में खुद दीपेंद्र हुड्डा और कितना वक्त चाहिए विकास के लिए ?
आपके इस सवाल के जवाब के साथ में यह कहूंगा कि आज पूरे देश में एक लहर चल पड़ी है जिसमें हर विपक्षी नेता और उनका समर्थक 70 साल का जिक्र कर रहे हैं मैं बता दूं दीपेंद्र हुड्डा के दादाजी ने जब राजनीति की तब समय अलग था उनके पिता की राजनीति का समय भी अलग था और आज दीपेंद्र हुड्डा की राजनीति का समय अलग है मैं बस इतना कह सकता हूं दीपेंद्र हुड्डा ने अपनी अलग राजनीति से अपने पिता और दादा दोनों के कद को और भी ज्यादा बढ़ाया है और राजनीति का स्तर ऊंचा किया है ।
○ दीपेंद्र हुड्डा कांग्रेस के प्रत्याशी हैं क्या आप मानते हैं कि राहुल गांधी प्रधानमंत्री पद के लिए सही होंगे ?
मैं इस सवाल का कोई भी जवाब देने से पहले यह साफ कर देना चाहता हूं कि जिस भी पार्टी के सबसे अधिक सांसद चुने जाएंगे उसी पार्टी का नेता प्रधानमंत्री बनेगा अगर कांग्रेस की सबसे ज्यादा सांसद चुने जाते हैं तो प्रधानमंत्री राहुल गांधी बनेंगे रही बात उनके सही और गलत होने की तो इतने बड़े राजनीतिक सवाल का  मैं संतोषजनक जवाब नहीं दे पाऊंगा ।
○ कांग्रेस के मेनिफेस्टो में धारा 370 को ना हटाने की बात कही गई है ।जिसको लेकर दीपेंद्र हुड्डा ने विरोध जताया है आप इस बारे में क्या कहेंगे ?
देखिए विपक्ष में होने के बाद भी दीपेंद्र हुड्डा को सर्वश्रेष्ठ सांसद के पुरस्कार से नवाजा गया है यह बात अपने आप में उनकी कुशलता को साबित करती है एक कर्म प्रधान नेता के तौर पर उनकी जो छवि है वह बहुत मजबूत है और हम मानते हैं कि अगर दीपेंद्र हुड्डा में अपनी बात विपक्ष में रहते हुए भी विपक्षी पार्टी से मनवाने का दम है तो वे अपने पक्ष में अपनी बात को मजबूती से रख कर अपनी बात जरूर मनवा लेंगे ।
○ प्रदेश कांग्रेस के हल्के में अलग-अलग गुटों के होने की बातें चल रही है इस बारे में क्या कहेंगे ?
देखिए राजेश जी साफ तौर पर कह दो कि अभी लोकसभा चुनावों में हमें सिर्फ प्रदेश में ही नहीं बल्कि पूरे देश में कांग्रेस पार्टी में किसी भी तरह की गुटबाजी दिखाई नहीं दे रही बल्कि पूरी कांग्रेस कांग्रेस के सभी कार्यकर्ता वनिता एकजुट होकर पूरे देश में चुनावों में अपनी शक्ति लगा रहे हैं और प्रदेश में कांग्रेस की एकता ही दीपेंद्र हुड्डा की जीत की नीव रखेगी कांग्रेस के टुकड़े और अलग गुटों की अफवाह विपक्षी दलों द्वारा सिर्फ मतदाताओं का ध्यान भटकाने की नाकाम कोशिश है ।
○ इस लोकसभा चुनाव से पहले हरियाणा प्रदेश के राजनीतिक हलके में एक और बड़ी घटना हुई जहां आई एन एस डी में विभाजन होकर एक अलग पार्टी जे जेपी का गठन हुआ कांग्रेस के लिए यह किस तरह घातक होगा ?
मुझे नहीं लगता कि जे जे पी के गठन से सिर्फ कांग्रेस को ही नुकसान होगा क्योंकि उनकी पार्टी का वोट बैंक पहले से ही प्रदेश में मौजूद है । हां मेरा निजी तौर पर यह मानना जरूर है कि इस पार्टी के बंटवारे के कारण अब इस पार्टी के जो भी कार्यकर्ता और नेता है वह बिखर चुके हैं जिससे प्रदेश में मौजूद बड़े राजनेताओं को सीधे तौर पर फायदा होगा क्योंकि इनेलो के बिखरे हुए नेता व कार्यकर्ता जरूर किसी स्थाई और मजबूत राजनीति के चेहरे से जुड़ना चाहेंगे और मुझे तो सीधे तौर पर इसका फायदा दीपेंद्र हुड्डा और कांग्रेस को होता दिखता है ।
○ क्या आपको लगता है कि इतने लंबे समय के बाद अब हुड्डा परिवार के राजनीतिक सफर का अंत होने वाला है ?
अभी तो बुड्ढा परिवार में एक नई राजनीतिक सफर का आगाज हुआ है दीपेंद्र हुड्डा का राजनीतिक सफर तो अभी सिर्फ शुरू हुआ है जहां तक हमारे मानने और समझने की बात है तो हमें लगता है कि फिलहाल प्रदेश की राजनीति में हुड्डा परिवार सबसे मजबूत खड़ा है और आगे कई सालों तक प्रदेश और प्रदेश की जनता की सेवा करता रहेगा ।
○ समाचार क्यारी द्वारा लंबे समय से मेरे सपनों का भारत कैसा हो कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है इसी के तहत हम आपसे आपके सपनों का भारत जानना चाहेंगे ?
मेरे सपनों का भारत एक ऐसा भारत होगा जो हर क्षेत्र में सबसे आगे होगा जहां सबसे अच्छी शिक्षा होगी सभी युवाओं के पास सबसे अच्छे और उचित रोजगार होंगे खेलों में हम सबसे आगे होंगे, आम जनता को जो रोज मर्रा की मुश्किलों का सामना करना पड़ता है उन मुश्किलों से छुटकारा मिल जाएगा । देश की सभी बहू बेटियां सुरक्षित होंगी, हमारी सरहदें मजबूत होंगी दुश्मन हमारी तरफ आंख उठाने से डरेगा एक ऐसा भारत जो नवीन ऊंचाइयों को छूता हुआ शिखर पर चमकेगा ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *