हुड्डा के हनुमान के सुपुत्र का हाथ बीजेपी के साथ

बेरी, समाचार क्यारी: हरियाणा में 2019 लोकसभा चुनाव को लेकर गरमा गरमी का माहौल थमने का नाम नहीं ले रहा आए दिन चुनावी दंगल में हर पार्टी के द्वारा नए-नए दांव लगाए जा रहे हैं । इन्हीं सब के बीच शनिवार को हुड्डा के हनुमान कहे जाने वाले स्वर्गीय चतर सिंह के सुपुत्र मोहित चतर सिंह ने बीजेपी का दामन थाम लिया है । बेरी विधानसभा क्षेत्र खास तौर पर इस निर्णय का असर क्या होगा यह अंदाजा लगाना कोई मुश्किल काम नहीं शनिवार को ही बीजेपी के कई प्रमुख नेताओं की मौजूदगी में मोहित चतर सिंह बीजेपी से जुड़ने का ऐलान किया इसके बाद समाचार क्यारी के संवाददाता संजीव ने मोहित चतर सिंह से की सीधी बात ।
○अचानक लिए गए इस बड़े फैसले के पीछे क्या कारण रहे ?
देखिए यह फैसला सिर्फ मेरा नहीं बल्कि मेरे पूरे परिवार का है पहलवान जी के समर्थन में रहने वाले पूरे हल्के मैं पिछले लंबे समय से एक ही सोच अपना घर बना चुकी थी इस बार वक्त देश हित में कुछ करने का है और सभी का एक मत से यही मानना है कि आज के दौर में देश हित के लिए बीजेपी से अच्छा कुछ नहीं ।
○ चुनाव का माहौल है इसलिए राजनीति बहुत तीखी है सीधा सवाल क्या बीजेपी को समर्थन बैरी विधानसभा क्षेत्र से टिकट की दावेदारी के बलबूते हुआ है ?
मेरा हमेशा से राजनीति को लेकर एक ही मत है। जब मेरा परिवार कहेगा तब राजनीति करूंगा जब नहीं कहेगा नहीं करूंगा और आज के बाद बीजेपी भी मेरा ही परिवार है इसलिए अगर पार्टी चाहेगी तो मैं बैरी से जरूर चुनाव लड़ लूंगा । लेकिन फिलहाल मेरा समर्थन बीजेपी को बिना किसी  शर्त के सिर्फ और सिर्फ देशहित में दिया गया है ।
○ स्वर्गीय चतर सिंह को संघर्षशील पुरुष की उपाधि से नवाजा जाता है आज आपने एक बहुत बड़ा फैसला लिया है क्या बैरी और स्वर्गीय चतर सिंह के समर्थक इस परिवर्तन के लिए तैयार हैं ?
बेरी में परिवर्तन मैं नहीं बल्कि मेरा परिवार करेगा आज मेरा पूरा परिवार इस परिवर्तन के लिए पूरी तरह तैयार है मैंने फैसला जरूर आज लिया है लेकिन इस परिवर्तन की सोच पूरे परिवार और समर्थकों में बहुत लंबे अर्से से मौजूद है और हम सब मिलकर इस परिवर्तन की लहर को कामयाबी का रास्ता दिखाएंगे । बीजेपी कि देश हित की नीति इकलौती वह वजह है जिसने हमें उन से जुड़ने के लिए प्रेरित किया और इस नीति के चलते बेरी में हम सभी पार्टी के आदेश का पालन करेंगे ।
वहीं कार्यक्रम में मौजूद रणवीर सिंह जो कि स्वर्गीय चतर सिंह के साथ भी काफी लंबे समय तक कंधे से कंधा मिलाकर समर्थन देते रहे मौजूद थे जब उनसे समाचार क्यारी ने मोहित चतर सिंह के इस फैसले को लेकर सवाल किया तो उनका कहना था कि
मोहित का फैसला राजनीति के फल के लिए नहीं बल्कि देश हित के लिए है और मोहित का पूरा परिवार जो कि 33000 लोगों से मिलकर बनता है 11 के साथ उसके साथ है आज स्वर्गीय चतर सिंह के साथ खड़ा हर कंधा और उनसे जुड़ा बच्चा बच्चा मोहित के साथ देश हित में खड़ा है यह एक ऐसा फैसला है जहां खुद को पीछे छोड़ देश को आगे रखा गया है अपने जज्बातों में सबसे ऊपर देश प्रेम को जगह दी गई है और हम सब इस बात के लिए मोहित पर गर्व करते हैं ।
70 साल से जो पार्टी इस देश पर एक मत के साथ राज करती आई है आज 70 साल बाद भी आतंकियों की भाषा बोलती है ऐसे लोगों से देश के हित की क्या उम्मीद लगाई जा सकती है यह कहना था कार्यक्रम में मौजूद मोहित चतर सिंह के एक समर्थक का
उन्होंने आगे कहा, मोहित को सिर्फ 33000 लोगों का समर्थन नहीं जो स्वर्गीय चतर सिंह के साथ खड़े थे बल्कि पूरे बैरी के 100000 वोटरों का साथ मिलेगा क्योंकि बीजेपी का समर्थन करने और देश हित में अपने मत को देने की इच्छा हरी के हर इंसान के दिल में आज से नहीं बल्कि 4 साल पहले से ही जग चुकी थी लेकिन आज मोहित के बीजेपी का दामन थामने के बाद उनके लिए समर्थन का रास्ता खुल गया है जब हमारा अपना बच्चा बीजेपी के साथ है तो फिर यहां का हर एक आदमी देश हित में मोदी के लिए वोट देगा ।
○ तो क्या रोहतक लोकसभा क्षेत्र में दीपेंद्र का किला ढह जाएगा ?
दीपेंद्र अच्छा आदमी लेकिन उसका वह जिसे जाएगा वह नेता बनने के भी लायक नहीं ।
बीजेपी का साथ देने का मतलब यह नहीं है कि दीपेंद्र गलत है दीपेंद्र एक अच्छा आदमी और नेता है लेकिन उसका वोट जिसे जाएगा वह इंसान प्रधानमंत्री बनना तो दूर एक नेता बनने के लायक भी नहीं ।आज देश का हर आदमी यह चाहता है कि फौज के ऊपर पत्थर उठाने वाले हर हाथ को जड़ से उखाड़ा जाए उस वक्त में कांग्रेस यह कहती है कि हम अपनी फौज के हाथ बांध देंगे। फौज के हाथ बंधे होंगे तो आतंकियों का सामना कैसे करें गे । यही नीतियां है जिन्होंने दीपेंद्र का किला नहीं बल्कि कांग्रेस का किला ढहा दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *