तपती धूप में अपने सांसद दीपेंद्र हुड्डा के इंतजार में बैठे सैकड़ों समर्थक कई घंटों के इंतजार में पुरुषों के साथ महिलाओं ने भी नहीं मानी हार

समाचार क्यारी: लोकसभा चुनाव के नजदीक आने के साथ ही पूरे प्रदेश में राजनेताओं और उनके समर्थकों में चुनावी जोश और गर्मी दोनों बढ़ती जा रही हैं चुनाव का आलम यह है कि कुछ ही दिनों के भीतर रोहतक लोकसभा क्षेत्र में बीजेपी और कांग्रेस दोनों ही पार्टियों के आला नेता अपने अपने चुनावी नारों के साथ समर्थन जुटाने के लिए पहुंच रहे हैं इसी बीच लगातार तीन बार सांसद रह चुके दीपेंद्र हुड्डा चौथी बार भी मैदान में खूब पसीना बहा रहे हैं इसी के चलते एक चुनावी रैली के लिए दीपेंद्र रोहतक लोकसभा के वेरी विधानसभा क्षेत्र के गांव छारा में पहुंचे । इससे पहले कि सांसद दीपेंद्र हुड्डा छापा में पहुंचते मनो पूरा गांव उनके स्वागत के लिए गांव के मुख्य चौराहे पर इकट्ठा नजर आया । जहां हजारों की तादाद में पुरुष तो थे ही पर साथ में कड़कती धूप में भी सैकड़ों की तादात में महिलाएं भी अपने पसंदीदा सांसद दीपेंद्र हुड्डा के स्वागत और उनके भाषण को सुनने के लिए मौजूद रहे ।
बता दे कि सुबह से ही सारा गांव के मुख्य चौराहे पर समर्थकों का तांता लगना शुरू हो गया था जबकि दोपहर देर से सांसद दीपेंद्र हुड्डा गांव में पहुंच पाए लेकिन इस लंबे इंतजार और तेज धूप ने भी इस बार हुड्डा समर्थकों का मनोबल डगमगा नहीं पाया ।
रैली में मौजूद समर्थकों से ग्राउंड जीरो पर बात की समाचार क्यारी के संवाददाता संजय शर्मा ने जिसके बाद कुछ मुख्य बिंदु उभर कर सामने आए।
○हमारे सारे काम कराए
दीपेंद्र हुड्डा हमारी पसंद इसलिए है क्योंकि उसने हमारे क्षेत्र में सभी काम करवाएं अस्पताल बनवाया सड़के बनवाई पक्की गलियां बनवाई कॉलेज को लेकर आए स्टेडियम दिया जिस गांव में पानी की दिक्कत हो अगर वहां बिना मांगे यह सभी सुविधाएं उपलब्ध करवाई जाए तो उस नेता को भला कैसे वोट नहीं देंगे ।
○ यह व्हाट दीपेंद्र के नाम की राहुल के नहीं
वहीं गली में मौजूद एक और समर्थक से जब बात की गई तो उनका कहना था कि हरियाणा में और खास तौर पर इस गांव में जितनी भी मोटे पड़ रही हैं वह दीपेंद्र के नाम की है उसके काम के लिए राहुल के लिए नहीं जबकि बीजेपी वाले कोई भी सांसद या नेता मोदी के अलावा और कुछ बोल ही नहीं पाते उनके पास कोई काम है ही नहीं गिन आने के लिए।
○ शहर में 24 घंटे बिजली और किसान को रात में सिर्फ 8 घंटे
जब से यह नई सरकार बनी है किसान का जीना मुहाल हो गया शहरों में 24 घंटे बिजली आती है पानी घर के अंदर नलों में आता है और यहां जो किसान अनाज होता है उसे बिजली सिर्फ 8 घंटे मिलती है और वह भी रात को ऐसी भरी दुपहरी में 2 से 3 घंटों के कट लगते हैं ।हम किसान लोग हैं लेकिन हमारी सुनने वाला कोई नहीं पिछली फसल अभी तक बिकी नहीं और नई पर पानी बारिश ने फेर दिया लेकिन सरकार को कोई सुध ही नहीं इसलिए दीपेंद्र को वापस लाना जरूरी है।
○ अपनी किसी भी समस्या के लिए बिना झिझक दीपेंद्र के पास जा सकते हैं
 जब स्थान पर मौजूद युवा समर्थकों से बात की गई तो उनका कहना था कि उनका निजी अनुभव है कि अगर उनको गांव में या निजी जीवन में किसी भी तरह की समस्या उत्पन्न हो रही है जो वाकई परेशान करने वाली है तो उन्हें विश्वास है कि वह सीधे तौर पर जाकर अपने सांसद दीपेंद्र हुड्डा से मिल सकते हैं। सिर्फ मिल नहीं सकते बल्कि अपने लिए न्याय या फिर मदद का विश्वास भी रख सकते हैं आज दीपेंद्र की सबसे बड़ी ताकत उनके द्वारा किया गया काम और उनका अपना व्यक्तिगत व्यवहार है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *