अब द. हरियाणा में फ्रंट फुट पर खेलेंगे खट्टर

चंडीगढ़ : हरियाणा कांग्रेस की बस यात्रा जैसे-जैसे आगे बढ़ रही है उसके पीछे-पीछे मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर डैमेज कंट्रोल में जुट गये हैं जहां सभी कांग्रेसी एकजुट होकर यात्रा को सफल बनाने में जुटे हैं। इस यात्रा में जहां कांग्रेस अपना ग्राफ बढ़ाने का प्रयास कर रही है। वही मुख्यमंत्री मनोहर लाल भी द. हरियाणा में कांग्रेस के रोड शो की हवा ​निकालने के लिए अपना रोड शो व जनसभाएं करने का कार्यक्रम तय कर चुके हैं। भाजपा सूत्रों के अनुसार उत्तर हरियाणा में सफल रोड शो से उत्साहित मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने लोकसभा चुनाव में प्रदेश की सभी दस सीटें पार्टी की झोली में डालने के लिए अब अहीरवाल और मेवात का रुख कर लिया है।

उत्तर हरियाणा में मुख्यमंत्री के रोड शो व सैनिकों की धरती मातनहेल में लोकसभा चुनाव का बिगुल फूंकने के बाद मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर एक अप्रैल को गुरुग्राम जिले के गांव पचगांव में जनसभा को संबोधित करेंगे। मुख्यमंत्री की जनसभा स्थल पचगांव में रखे जाने को लेकर राजनीतिक गलियारों में इस बात की जबरदस्त चर्चा है कि पचगांव रैली के जरिये मुख्यमंत्री अहीरवाल और मेवात में भाजपा की जड़ें और मजबूत करने के प्रयास में है क्योंकि सीएम यहां अपना राजनीतिक कद बढ़ाना चाहते हैं।

क्योंकि गुरुग्राम के सांंसद राव इंद्रजीत के साथ ज्यादा संबंध अच्छे न होने के कारण वह इस इलाके में अपना खुद का ग्राफ बढ़ाना चाहते हैं इसके लिए उन्होंने अपनी कैबिनेट के मंत्री राव नरबीर सिंह को इस अभियान में उतार ​दिया है। गुरुग्राम और रेवाड़ी के बीच नेशनल हाइवे नंबर आठ पर पचगांव का रैली स्थल केेएमपी मार्ग से जहां फरीदाबाद और सोनीपत हलके को सीधा जोड़ता है, वहीं मेवात क्षेत्र भी पचगांव से सीधा जुड़ा हुआ है।

मुख्यमंत्री की यह रैली भाजपाइयों के लिए कितनी अहम बनी हुई है कि इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि मंत्री राव नरबीर सिंह गुरुग्राम के साथ भाजपा के विधायक उमेश अग्रवाल, सोहना के विधायक तेजपाल तंवर व पटौदी विधायक को रैली में भीड़ जुटाने का जिम्मा सौंपा गया है। अहीरवाल की सभी सीटों पर वर्तमान में जहां भाजपा के विधायक है, वहीं मेवात में इनेलो का दबदबा रहा है। मुख्यमंत्री रेवाड़ी, गुरुग्राम व आसपास के विधानसभा क्षेत्रों में सफल रोड शो और जनसभाएं कर राव इन्द्रजीत सिंह को झटका देना चाहते हैं यही कारण है कि उन्होंने इन कार्यक्रमों से सांसद को दूर ही रखा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *