तिरंगे में लिपट गांव पहुंचा हरियाणा का लाल

Spread the love

दक्षिणी कश्मीर के अनंतनाग में सीआरपीएफ की पेट्रोलिंग पार्टी पर आतंकी हमले में हरियाणा निवासी रमेश कुमार समेत पांच जवान शहीद हो गए। झज्जर के गांव खेड़ी जट्ट निवासी एएसआई रमेश कुमार की शहादत की खबर जैसे ही घर पहुंची, कोहराम मच गया। परिजनों को सांत्वना देने के लिए लोगों का आना जाना लग गया। शहीद रमेश कुमार का पार्थिव शरीर गुरुवार शाम को पैतृक गांव खेड़ी जट्ट लाया पहुंचा। शहीद रमेश कुमार के दो लड़के मोहित और रोहित कुमार हैं। रमेश फरवरी महीने में ही एक माह की छुट्टी काट कर अनंतनाग गए थे। एएसआई रमेश कुमार सीआरपीएफ की 116वीं बटालियन की ब्रावो कम्पनी में तैनात थे। शहीद का पार्थिव शरीर देख पत्नी बेसुध हो गई। शहीद की अंतिम यात्रा में जनसैलाब उमड़ आया। वहां पर मौजूद हर आंख नम थी। हाथों में तिरंगा लिए लोग जयहिंद के नारे लगा रहे थे। शाम 6 बजकर 30 मिनट पर शहीद को मुखाग्नि दी गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *