सर्वागिंण विकास के लिए समाजिक सरोकारों से जुड़े कार्यो को प्राथमिकता दें ग्राम पंचायतें : औम प्रकाश धनखड़ 

Spread the love
–पंचायत मंत्री औ पी धनखड़ ने कहा गांवों के सामाजिक व आर्थिक विकास के लिए सेवन स्टार विलेज योजना  कारगार 
— मंत्री ने सुनीं ग्रामीणों की समस्याएं, लोकसभा चुनाव में कमल खिलाने के लिए जताया आभार
झज्जर, समाचार क्यारी, संजय शर्मा /रवी कुमार :-ग्रामीण क्षेत्र को भौतिक विकास के साथ -साथ समाजिक व आर्थिक रूप से विकसित करना समय की सबसे बड़ी जरूरत है। ग्राम पंचायतें समाजिक व आर्थिक सरोकारों से जुड़े कार्यों के साथ अपने आपको प्राथमिकता  के साथ प्रभावी ढंग से जोड़े। विकास एवं पंचायत विभाग ने गंावों के सर्वागिण विकास के लिए इंद्रधनुष ग्राम योजना शुरू की हुई है। प्रदेश के विकास एवं पंचायत मंत्री औम प्रकाश धनखड़ ने बादली विधान सभा क्षेत्र में ग्रामीणों को संबोधित करते हुए यह बात कही। उन्होंन अपने दौरे के दौरान ग्रामीणों की समस्याएं सुनीं और मौके पर उपस्थित अधिकारियों को प्राथमिकता के आधार पर समाधान के दिशा-निर्देश दिए।  पंचायत मंत्री ने लोकसभा चुनाव में नरेंद्र मोदी को दोबारा प्रधानमंत्री बनाने पर ग्रामीणों का धन्यवाद करते हुए आभार जताया।
– सेवन स्टार विलेज का टैग तय करेगा गांव की समाजिक व आर्थिक स्थिति  
पंचायत मंत्री ने कहा कि विकास एवं पंचायत विभाग की इंद्रधनुष ग्राम योजना के तहत गांव की उपलब्धियों के आधार पर रेटिंग होगी। स्टार रेटिंग प्राप्त करने के लिए सात अलग-अलग श्रेणियों के तहत आवेदन किया जा सकता है। जिस भी पंचायत को सात रंग के स्टार मिलेंगे उक्त गांव को योजना के तहत इंद्रधनुष ग्राम का दर्जा मिलेगा और विकास के लिए राज्य सरकार की ओर से विशेष अनुदान मिलेगा। यानि एक स्टार के लिए  एक लाख रूपये अलग से विकास के लिए। मेरी ईच्छा है कि बादली विधान सभा क्षेत्र ेके सभी गांव समाजिक व आर्थिक सराकारों से जुड़े कार्यों को पूरे मनोभाव से करते हुए सेवन स्टार विलेज का दर्जा प्राप्त करें।
— ग्रामीण विकास से जुड़े सात विषय, प्रत्येक के लिए मिलेगा एक स्टार 
पंचायत मंत्री ने कहा कि सरकार द्वारा क्रियांवित की जा रही इंद्रधनुष ग्राम पंचायत योजना का उद्देश्य गांवों का समुचित विकास करना है। विकास में भौतिक के साथ-साथ समाजिक व आर्थिक पहलुओं को ध्यान में रखते हुए अलग-अलग श्रेणी में सात रंग निर्धारित किए गए हैं। अंत्योदय की भावना पर आधारित इंद्रधनुष ग्राम योजना के तहत विकास के मॉडल में समाज के हर वर्ग को शामिल करना है। विकास की परिकल्पना को निर्माण के अतिरिक्त लिंगानुपात, सामाजिक सौहार्द, जनभागीदारी के साथ विकास कार्यों को आगे बढ़ाने, पर्यावरण संरक्षण तथा शिक्षा के स्तर में सुधार लाने ,समाजिक भाई-चारा यानि कानून व्यवस्था अच्छी हो जैसे विषय इस योजना के तहत शामिल किए गए हैं। अपनी तरह की इस अनूठी योजना का उद्देश्य ग्राम के विकास को हर स्तर पर आगे बढ़ाना है।
— सात रंग प्राप्त करने वाले गांव को मिलेगा इंद्रधनुष यानि रेनबो ग्राम का दर्जा मिलेगा 
इंद्रधनुष ग्राम योजना के तहत सुशासन के लिए सुनहरी रंग, विकास में सहभागिता के लिए सिल्वर, लिंगानुपात में बराबरी के लिए गुलाबी, पराली न जलाने वाले तथा पर्यावरण संरक्षण की दिशा में सराहनीय कार्य करने वाले गांव को हरा रंग, स्वच्छता के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य करने वाले गांव को सफेद रंग, अपराध मुक्त व सामाजिक सदभाव वाले गांव को भगवा रंग तथा जिस गांव में स्कूल में पढऩे वाले बच्चों में ड्रॉप आऊट की दर सबसे कम होगी उसे आसमानी रंग का स्टार मिलेगा। ग्राम पंचायत की ओर से विभिन्न श्रेणियों के लिए किए जाने वाले आवेदन के उपरांत हर स्टार के लिए समिति रेटिंग प्रदान करेगी। सेवन स्टार प्राप्त करने वाले गांव को रेनबो यानि इंद्र धनुष विलेज का दर्जा मिलेगा।
—  कमल खिलाने के लिए जताया आभार 
   कृषि मंत्री ने लोकसभा चुनाव में देश के लिए मतदान कर मोदी को दोबारा प्रधानमंत्री बनाने के लिए ग्रामीणों का धन्यवाद करते हुए आभार जताया। उन्होंने कहा कि बादली विधानसभा क्षेत्र में विकास का पहिया पिछले पौने पांच साल में तेजी से घूमा है। विधान सभा चुनाव में बादली विधानसभा क्षेत्र से से कमल खिला दियो,विकास का पहिया मुझे घूमाना आता है। अगले सत्र में इसकी और स्पीड बढ़ा देंगे। पहिया की स्पीड बढ़ाने की ताकत आपने देनी है। गांवों में पंहुचने पर ग्रामीणों ने मंत्री श्री धनखड़ का जोरदार स्वागत किया। इस दौरान किसान मोर्चा के जिला अध्यक्ष पवन छिल्लर, जीतू चेयरमैन, प्रकाश माजरा, जोगेंद्र अमित सरंपच, मनोज चौहान, सतबीर, जयभगवान सरपंच, कृष्ण कुंजिया, राकेश, जोनी, राकेश भिंडावास, काले शाहजहापुर,सुंदर मिस्त्री,अमित बिलौचपुरा, जंगले भिंडावास, अभिषेक, भवर सरपंच न्यौला सहित पार्टी कार्यकर्ता मौजूद रहे। प्रशासन की ओर से एसडीएम शिखा, बीडीपीओ रामकरण, कार्यकारी अभियंता अजेयंद्र सुहाग, जिला बागवानी अधिकारी डॉ आर एस अहलावत सहित अन्य विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *