सीएम ने दी प्रदेशवासियों को करोड़ों की सौगात

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने क्षेत्रवाद से ऊपर उठकर पूरे प्रदेश में एक समान विकास करवाने का अद्वितीय उदाहरण देश के समक्ष प्रस्तुत करते हुए चण्डीगढ़ से सभी 22 जिलों के लिए 4106 करोड़ रुपये से अधिक की 211 नई परियोजनाओं का डिजिटल माध्यम से एक साथ उदघाटन व शिलान्यास किया। वीडियो कान्फ्रैंसिंग के माध्यम से जिला स्तर पर उपस्थित हरियाणा कैबिनेट के सभी मंत्रियों, सांसदों, विधायकों, वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारियों व उपस्थित अन्य विशिष्ट अतिथियों को विश्व वन्य प्राणी दिवस के अवसर पर प्राकृतिक सम्पदाओं को मानव जीवन के लिए बचाने का संकल्प दिलाते हुए मुख्यमंत्री ने प्रदेशवासियों को महाशिवरात्रि की अग्रिम बधाई एवं शुभकामनाएं दी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि का दिन हरियाणा के समग्र विकास में एक ऐतिहासिक दिन माना जाएगा। इतनी बड़ी परियोजनाओं का एक साथ उदघाटन व शिलान्यास भारत में ही नहीं विश्व में भी कहीं नहीं हुआ होगा। इससे पूर्व भी गत वर्ष 22 महिला महाविद्यालयों का एक साथ चण्डीगढ़ से शिलान्यास कर मुख्यमंत्री ने हरियाणा में राजनीति की परिभाषा बदलकर सरकार की हरियाणा एक हरियाणवी एक मूलमंत्र पर चलते हुए क्षेत्रवाद, भाई-भतीजावाद व जातिवाद के भेदभाव को खत्म करने की नीतियों को मूर्त रूप दिया था, जिसका सार्थक समर्थन प्रदेश के लोगों ने प्रदेश में जितने भी चुनाव हुए हैं, में दिया है इनमें फरीदाबाद और गुरुग्राम के नगरनिगमों के चुनाव या पंचायती राज संस्थानों के चुनाव या पहली बार पांच नगरनिगमों के मेयर का सीधा चुनाव हो या अभी हाल ही में जींद विधानसभा का उपचुनाव हो, में दिया है।

मुख्यमंत्री ने पूरे प्रदेश में एक समान विकास करवाने का अनूठा उदाहरण देश के समक्ष प्रस्तुत करते हुए कहा कि पिछले कांग्रेस सरकार के 10 वर्षोें के कार्यकाल में मुख्यमंत्री द्वारा केवल 6500 ही घोषणाएं की गई थी, परंतु हमारी सरकार के साढे चार साल के कार्यकाल में न केवल उनसे अधिक 7911 विकासात्मक घोषणाएं की गई हैं, बल्कि उन पर कार्य करते हुए 2421 पूरी कर ली गई हैं, 2141 पर कार्य प्रगति पर हैं, केवल 3160 घोषणाएं, जो लम्बित हैं, वे भी वर्ष 2018-19 की हैं, उन पर भी शीघ्रातिशीध्र कार्य आरम्भ हो जाएगा। उन्होंने कहा कि इसके लिए हमने अन्तर-जिला परिषद का गठन किया है।

उन्होंने कहा कि पारदर्शी तरीके से बिना भ्रष्टाचार से किसान, गरीब, मजदूर, श्रमजीवी की खुशहाली हो, इसके लिए एक व्यवस्था तैयार की गई है। आम आदमी के लाभ की केन्द्र व राज्य सरकार की सभी योजनाओं की जानकारी एक छत्त के नीचे उपलब्ध हो, इसके लिए जिला स्तर, उपमण्डल स्तर पर ग्राम पंचायत स्तर पर सरल केन्द्र, अन्त्योदय केन्द्र तथा सांझा सेवा केन्द्र खोले गये हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि 5 मार्च को प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी श्रमजीवी योगी मानधन योजना की शुरूआत कर रहे हैं। उन्होंने प्रदेश के लोगों से अपील की कि जिन लोगों की आजीविका मासिक 15,000 रुपये से कम की है, वे इस योजना में अपना पंजीकरण अवश्य करवाएं।

उन्होंने बताया कि योजना के तहत 55 रुपये व 200 रुपये का मासिक का प्रीमियम भरना होगा और 60 वर्ष उपरांत 3000 रुपये मासिक पेंशन प्राप्त करने के पात्र होंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि हरियाणा सरकार इस योजना के तहत हाल ही में आरम्भ की गई मुख्यमंत्री परिवार सम्मान समृद्घि योजना के तहत दी जाने वाली 500 रुपये की रशि से यह प्रीमियम जून 2019 से जमा करवा देगी। उन्होंने कहा कि इसके लिए परिवार की आईडी बनाने का कार्य जारी है और अब तक 15 लाख परिवारों का डाटा एकत्रित किया जा चुका है। मुख्यमंत्री ने जिलावार परियोजनाओं का उदघाटन व शिलान्यास किया और जिला स्तर पर उपस्थित मंत्रियों, सांसदों, विधायकों तथा जिला प्रशासन के अधिकारियों को उनके क्षेत्र में मिली विकास परियोजनाओं की सौगात पर बधाई व शुभकामनाएं दी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आज की सबसे बड़ी परियोजना, जिसका उदघाटन किया गया है, वह है वर्ष 1981 से लम्बित सिंचाई विभाग की 633 करोड़ रुपये की मेवात फीडर कैनाल परियोजना। इसके साथ ही मेवात में विकास के एक नये युग का सूत्रपात होगा, क्योंकि आज मुख्यमंत्री ने शहीद हसन खां मेवाती राजकीय चिकित्सा महाविद्यालय परिसर, नल्हड़ (नूंह) में 150 करोड़ रुपये की राशि से दंत महाविद्यालय की आधारशिला भी रखी। मुख्य सचिव श्री डी एस ढेसी ने कार्यक्रम की रूपरेखा के बारे विस्तार मुख्यमंत्री को अवगत करवाया और कहा कि सरकार के साढे चार वर्ष के कार्यकाल में अभूतपूर्व विकास हुआ है।

राजस्व विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्रीमती केसनी आनन्द अरोड़ा ने अपने धन्यवाद भाषण में मुख्यमंत्री को आश्वासन दिया कि उनके इस विजन को पूरा करने में प्रशासनिक स्तर पर पूरी निष्ठा से कार्य किया जाएगा और आज का दिन प्रदेश के विकास में एक मील का पत्थर साबित होगा। इस अवसर पर मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव श्री राजेश खुल्लर, अतिरिक्त प्रधान सचिव श्री वी ऊमाशंकर, उप अतिरिक्त प्रधान सचिव श्रीमती आशिमा बराड़ के अलावा अन्य सभी विभागों के अतिरिक्त मुख्य सचिव, प्रधान सचिव व विभागाध्यक्ष उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *