तंवर और हुड्डा एक मंच पर आए, बिश्नोई गायब

Spread the love

हरियाणा प्रदेश कांग्रेस प्रभारी गुलाम नबी आजाद हरियाणा के सभी कांग्रेसियों को एक मंच पर लाने में कामयाब हो गए। शनिवार को प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक में जहां सभी कांग्रेस अपने-अपने समर्थकों समेत शामिल हुए वहीं पिछले तीन से भाजपा में जाने को लेकर चर्चाओं में घिरे कुलदीप बिश्नोई की बैठक में भी शामिल नहीं हुए। जिसके चलते उन्हें लेकर अटकलों का दौर और तेज हो गया है। हालांकि उनके भाई चन्द्रमोहन बिश्नोई मंच पर नजर आए।

पिछले पांच साल से एक-दूसरे के विरूद्ध मोर्चा खोलने वाले भूपेंद्र सिंह हुड्डा व अशोक तंवर आज पहली बार एक मंच पर दिखाई दिए लेकिन दोनों में खास बातचीत नहीं हुई। दोनों नेताओं के बीच गुलाम नबी आजाद की कुर्सी थी। जिससे यह साफ संकेत मिला की आजाद के प्रभाव के चलते दोनों नेता मजबूरी में एक-दूसरे के साथ मंच साझा कर रहे हैं।

गुलाम नबी आजाद की अध्यक्षता में आज दिल्ली स्थित कांग्रेस मुख्यालय में हुई बैठक में पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा, कांग्रेस अध्यक्ष अशोक तंवर, किरण चौधरी, कुमारी सैलजा समेत कई वरिष्ठ नेताओं ने भाग लिया। बैठक को संबोधित करते हुए गुलाम नबी आजाद ने सभी नेताओं को आपसी मतभेद भुलाकर एक मंच आने की अपील करते हुए कहा कि भाजपा को हराने के लिए सभी को एकजुटता के साथ काम करना होगा।

आजाद ने कहा कि हरियाणा में कांग्रेस की 26 मार्च से शुरू होने वाली बस यात्रा गुरूग्राम से शुरू होगी और 31 मार्च को फरीदाबाद में समाप्त होगी, जिसकी तैयारियों के लिए पूरे हरियाणा भर के कांग्रेसी पदाधिकारी और कार्यकर्ता तैयारियों में जुट जाएं। प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष डा.अशोक तंवर ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि देश मे होने वाले लोकसभा चुनावों को लेकर कांग्रेस पूरी तरह से तैयार है और कांंग्रेस एकजुट होकर हरियाणा की दस की दस लोकसभा सीटों पर जीत हासिल करेगी।

उन्होंने हरियाणा कांग्रेस के लिए लोकसभा चुनावों में जीत हासिल करने के लिए ‘जोश, जुनून व जीत’ का मंत्र दिया। तंवर ने कहा कि हरियाणा की बीजेपी सरकार के राज में तीन बार हरियाणा को जलाया गया और प्रदेश के लोगों का आपसी भाईचारा खराब करने की कोशिश की गई।

पूर्व मुख्यमंत्री एवं चुनाव समन्वय समीति के अध्यक्ष भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा कि 26 मार्च से हरियाणा में शुरू होने वाली बस यात्रा के शुरू होने के बाद हरियाणा में एकतरफा कांग्रेस की लहर चल पड़ेगी क्योकि जब सारी कांग्रेस एक साथ लोगों की बीच उतरेगी तो लोगों का कांग्रेस के प्रति विश्वास ओर ज्यादा मजबूत होगा और भाजपा से तंग आए लोग कांग्रेस के उम्मीदवारों को अपना खुला समर्थन देने का काम करेगें। आज की बैठक में सभी विधायक पहुंचे हुए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *