हरियाणा: खालिस्तानी संगठनों से जुड़े 2 गैंगस्टर सिरसा से गिरफ्तार, 20 की अभी तलाश जारी

Spread the love
समाचार क्यारी डेस्क , खालिस्तान टाइगर फोर्स (केटीएफ) व इंटरनेशनल सिख यूथ फेडरेशन (आईएसवाईएफ) से जुड़े दो गैंगस्टर मंगलवार को हरियाणा के सिरसा में दबोचे गए हैं। 6 दिन में इन संगठनों से जुड़े 9 आतंकी और गैंगस्टरों को हरियाणा व पंजाब पुलिस दबोच चुकी है। सूत्र बताते हैं कि मोहाली पुलिस की पूछताछ में यह भी सामने आया है कि सिरसा जिला के करीब 22 युवक खालिस्तानी संगठनों से जुड़े हैं। पंजाब पुलिस इनकी लोकेशन और ठिकानों पर दबिश दे रही है।

हरियाणा पुलिस से सहयोग मांगा है। डीएसपी खरड़ विक्रमजीत सिंह ने बताया कि 18 फरवरी को मोहाली में फाजिल्का निवासी गैंगस्टर सुनील और मोहाली निवासी किरण को गिरफ्तार किया था। ये दोनों एक इमिग्रेेशन कंपनी के मालिक की हत्या करने आए थे। इन दोनों से पूछताछ के बाद ही पता चला था कि इनका नेटवर्क हरियाणा में भी है।

पंजाब पुलिस से मिले इनपुट के बाद सोनीपत पुलिस ने खालिस्तानी संगठनों से जुड़े गांव जुआं निवासी सागर उर्फ बिन्नी, सुनील उर्फ पहलवान और जतिन के अलावा गांव राजपुर निवासी सुरेंद्र उर्फ सोनू  को हथियारों के साथ गिरफ्तार किया था। वहीं, 16 फरवरी को सिरसा से गिरफ्तार जेम्स दीप उर्फ जिम्मी चट्ठा से पूछताछ के बाद अब सोमवार को गांव फतेहपुरिया निवासी विशाल व घुक्कांवाली निवासी हरमनदीप उर्फ हैरी को काबू किया।

इन दोनों के पास बरेटा कंपनी की 9 एमएम पिस्टल बरामद हुई। पुलिस इनको गिरफ्तार कर मोहाली लेकर गई है। पंजाब पुलिस की अब तक की जांच में सामने आया है कि सुनील कुमार कनाडा बेस्ड गैंगस्टर अर्शदीप सिंह दल्ला का साथी है। उस पर मनोहर लाल अरोड़ा निवासी भगता भाई, जिला बठिंडा की हत्या और जबरन वसूली समेत कई धाराओं के तहत केस दर्ज हैं।

वहीं, जेम्सदीप सिंह उर्फ जिम्मी चट्ठा निवासी सिरसा इन गैंगस्स्टरों को शरण देता था। मोहाली पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों ने बताया कि  सोनीपत से गिरफ्तार आतंकियों को भी पूछताछ के लिए जल्द ही रिमांड पर लाया जाएगा। उम्मीद है कि इनसे पूछताछ में कई राज खुलेंगे।

चारों आतंकियों से एनआईए व आईबी ने 18 घंटे की पूछताछ
सोनीपत से गिरफ्तार खालिस्तानी हैंडलरों से नेशनल इनवेस्टिगेशन एजेंसी (एनआईए) के साथ ही इंटेलीजेंस ब्यूरो (आईबी) और एसटीएफ हरियाणा की टीमों ने करीब 18 घंटे तक पूछताछ की है। आठ दिन के रिमांड पर लिए गए आतंकियों से जहां एनआईए ने 13 घंटे तक पूछताछ की, वहीं आईबी और एसटीएफ की टीमें भी उनसे घंटों पूछताछ में जुटी रहीं। साथ ही सोनीपत की पुलिस ने आरोपियों के खातों की डिटेल के लिए बैंकों को पत्र दिया है। जल्द ही उनकी डिटेल मिलने की संभावना है। पुलिस ने आरोपी सागर के घर से कुछ आधार कार्ड भी बरामद किए हैं। उनके बारे में जानकारी जुटाई जा रही है।

सोनीपत पुलिस को पंजाब पुलिस और खुफिया एजेंसियों से इनपुट के बाद शनिवार को गांव जुआं निवासी सागर को उसके घर से गिरफ्तार करने के साथ ही वहीं से सुनील उर्फ पहलवान और जतिन को काबू किया था। पुलिस ने तीनों के कब्जे से एके-47, तीन विदेशी पिस्तौल व 56 कारतूस बरामद किए थे। बाद में उनके साथी मूलरूप से गांव मल्हा माजरा फिलहाल राजपुर निवासी सुरेंद्र उर्फ सोनू को दो पिस्तौल व छह कारतूस सहित पकड़ा था।

आरोपी आस्ट्रेलिया में रह रहे आतंकी गुरजंट सिंह उर्फ जंटा, पाकिस्तान में रह रहे आतंकी लखवीर सिंह रोड़, कनाडा में शरण लिए आतंकी हरदीप सिंह निज्जर व अर्शदीप सिंह डाला के इशारे में पर काम कर रहे थे। आरोपियों से पूछताछ के लिए रविवार रात को ही एनआईए की टीम दिल्ली व चंडीगढ़ से पहुंच गई थी। पांच सदस्यीय टीम ने मामले में आरोपियों से करीब 13 घंटे तक गहनता से पूछताछ की है।

बाद में आईबी दिल्ली व एसटीएफ हरियाणा की टीम ने भी करीब पांच घंटे तक उनसे पूछताछ कर जानकारी जुटाई। बताया जा रहा है कि इनमें सागर उर्फ बिन्नी का सीधा संपर्क खालिस्तान समर्थित आतंकियों से था। अन्य को सागर अपने साथ जोड़कर काम लेता था। खालिस्तान समर्थित आतंकियों की ओर से 10 से 12 लाख रुपये सागर के अलग-अलग तीन बैंक खातों में आए हैं। इसको लेकर जांच एजेंसी रिकॉर्ड जुटा रही है।

आरोपियों को उनके ठिकानों व घर लेकर गई पुलिस 
पुलिस टीम सोमवार को आरोपियों को उनके ठिकानों व घर पर भी लेकर गई। पुलिस ने सागर के घर से कुछ आधार कार्ड भी कब्जे में लिए हैं। हालांकि यह पता नहीं लग सका है कि वह आधार कार्ड फर्जी या उन्हें गड़बड़ी की फोटोकॉपी से तैयार किया गया है। पुलिस इसकी जांच में जुटी गई है।

तीन बैंक खातों की डिटेल मांगी, अन्य के बारे में पता लगा रहे
पुलिस टीम को आरोपियों के तीन बैंक खातों की जानकारी मिली थी। इसके लिए पुलिस ने बैंकों में संपर्क किया है। पत्र लिखकर जानकारी मांगी गई है। जानकारी के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी। उनके अन्य बैंक खातों के बारे में पता लगाया जा रहा है। हालांकि अभी इस दिशा में पुलिस को कोई कामयाबी नहीं मिली है।

सात से 18 लाख तक की विदेशी पिस्तौल लिए थे आतंकी
पुलिस ने आतंकियों के कब्जे से चार विदेशी पिस्तौल के साथ ही एके-47 भी बरामद की है। बताया गया है कि सुनील के पास से बरामद अमेरिका में बनी बरेटा पिस्तौल की कीमत 15 से 18 लाख रुपये के बीच है। वहीं तीन ग्लोक पिस्तौल की कीमत भी सात से 9 लाख रुपये के बीच बताई जा रही है। एके-47 की कीमत अलग-अलग होती है।

कृषि कानून विरोधी आंदोलन में खालिस्तान समर्थक के संपर्क में आया सागर 
जांच में सामने आया है कि सागर उर्फ बिन्नी कृषि कानून विरोधी आंदोलन के दौरान वायरल हो रहे एक वीडियो के जरिये पंजाब के एक आतंकी के संपर्क में आया था। पहले से आपराधिक रिकॉर्ड होने के चलते आतंकी ने उसे अपने साथ जोड़ लिया था। उसने साथ काम करने की पेशकश की तो सागर ने बदले में पैसे के अलावा एके-47 की मांग की। वह अपराध जगत में दबदबा बनाना चाहता था।

पंजाब लेकर जाने के बाद खुलेंगे कई राज
पुलिस का कहना है कि जल्द चारों आरोपियों को पंजाब ले जाया जाएगा। जिसके बाद कई अन्य राज खुल सकेंगे। फिलहाल पंजाब पुलिस के अधिकारी भी सोनीपत पहुंचकर आरोपियों से पूछताछ कर चुके हैं। पंजाब ले जाने के बाद और सुबूत जुटाए जा सकेंगे।

रिमांड पर लिए गए खालिस्तान समर्थित चारों आरोपियों से लगातार पूछताछ की जा रही है। एनआईए व आईबी की टीम ने भी पूछताछ की है। पुलिस ने उनके बैंक खातों की जानकारी मांगी है। जल्द मामले में अन्य खुलासे किए जाएंगे। – राहुल शर्मा, एसएसपी सोनीपत

Leave a Reply

Your email address will not be published.