प्राकृतिक संतुलन के लिये पेड़ पौधों के साथ साथ जीव जंतुओं का संरक्षण भी जरूरी : धनपत सिंह

Spread the love
पंचकूला, समाचार क्यारी ,राजेश कुमार :– परिवहन विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव धनपत सिंह ने कहा कि प्राकृतिक संतुलन के लिये पेड़ पौधों के साथ साथ जीव जंतुओं का संरक्षण भी जरूरी है।
श्री धनपत सिंह आज राज्य जैव विविधिकरण बोर्ड द्वारा वन एवं वन्य प्राणी संरक्षण विभाग के सहयोग से मोरनी के नजदीक थापली में आयोजित राज्य स्तरीय समारोह के प्रतिभागियों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि जीव जंतुओं और पेड़ पौधों का मानव जीवन में महत्वपूर्ण स्थान है। उन्होंने कहा कि प्राचीन समय में पाये जाने वाले गोरिया पक्षी गत वर्षाें से लगातार कम होते जा रहे है और इस प्रकार के जीव जंतुओं को जटायु संरक्षण की तर्ज पर संरक्षित करने की आवश्यकता है। उन्होंने उपस्थित विद्यार्थियों को भारतीय संस्कृति में जीव जंतुओं के महत्व से जुड़े विभिन्न संस्मरण भी बताये।
इस अवसर पर गुलशन कुमार अहुजा ने अपने अध्यक्षीय भाषण में बताया कि वर्ष 2000 से प्रति वर्ष 22 मई को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर जैव विविधता दिवस के रूप में मनाया जाता हैं। इसके लिये राष्ट्रीय स्तर पर नैशनल जैव विविधता आॅथरिटी का गठन भी किया गया है और हरियाणा में राज्य जैव विविधता बोर्ड गठित किया गया है। इन प्रयासों का उद्देश्य जीव जंतुओं, कीट पतंगों और मछलियों व अन्य समुंद्री जीवों की घटती हुई संख्या के प्रति मानव जाति को जागरूक करना है।
इस अवसर पर मुख्य वन संरक्षक वीएस तंवर ने बच्चों को प्रेरित किया कि वे प्रकृति और जीवों के संरक्षण में सहयोग का संकल्प लें। इसी प्रकार अतिरिक्त प्रधान मुख्य वन संरक्षक विनोद कुमार ने जैव विविधता के विभिन्न पहलुओं और पर्यावरण परिवर्तन से जुड़ी चुनौतियों पर चर्चा की।
कार्यक्रम में दिल्ली और चंडीगढ़ से आये विख्यात चित्रकारों ने अपनी चित्रकला के माध्यम से जैव विविधता पहलुओं का प्रभावी चित्रण किया। इस मौके पर स्कूली छात्राओं को शामिल करके चित्रकला प्रतियोगिता भी आयोजित की। स्कूली बच्चों ने लघु नाटिका व सांस्कृतिक कार्यक्रमों के माध्यम से जैव विविधता के महत्व की जानकारी दी। प्रतिभागी चित्रकारों और विद्यार्थियों को सम्मानित किया गया।
इस कार्यक्रम में गुलशन कुमार अहुजा के अतिरिक्त प्रधान मुख्य वन संरक्षक वीएस तंवर, हरियाणा एग्री इंडस्ट्री के प्रधान मुख्य वन संरक्षक जगदीश चंद्र, अतिरिक्त प्रधान मुख्य वन संरक्षक विनोद कुमार, वन एवं वन्य प्राणी विभाग के सचिव सुरेश दलाल, मुख्य वन संरक्षक एमएल राजवंशी, श्याम सुंदर, शिव सिंह, धर्मबीर सिंह व अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *