झज्जर में हुए हादसे की जांच के लिए डीसी सोनल गोयल ने किया सीआईटी का गठन

एसडीएम झज्जर की अध्यक्षता में गठित क्रैश इंवेस्टिगेशन टीम करेगी हादसे की वजह की जांच

झज्जर,( संजय शर्मा/रवि कुमार) उपायुक्त सोनल गोयल ने सोमवार को झज्जर में बादली बाइपास पर हुए हादसे की जांच के लिए प्रशासनिक स्तर पर क्रैश इंवेस्टिगेशन टीम (सीआईटी) का गठन किया है। एसडीएम झज्जर की अध्यक्षता मे गठित सीआईटी सडक़ हादसे के कारणों का पता लगाएगी और अपनी जांच रिपोर्ट उपायुक्त के समक्ष प्रस्तुत करेगी। इसके अतिरिक्त सडक़ों पर सुरक्षा इंतजामों से जुड़ी आवश्यकताओं की पूर्ति को लेकर संबंधित विभागों को निर्देश जारी किए है।
झज्जर में बादली मार्ग पर स्थित बाइपास पर हुए हादसे की सूचना मिलने के तुरंत बाद जिला प्रशासन की ओर से एसडीएम झज्जर विजय सिंह, सीटीएम अश्वनी कुमार व तहसीलदार मुखत्यार सिंह मौके पर पहुंचे थे। इस हादसे में एक परिवार के आठ सदस्यों की जनहानि हुई है।

हादसे के दोषी विभाग के खिलाफ होगी एमवी एक्ट के तहत कार्रवाई

श्रीमती सोनल गोयल ने जानकारी देते हुए बताया कि क्रैश इंवेस्टिगेशन टीम की अध्यक्षता एसडीएम झज्जर विजय सिंह करेंगे तथा उनके साथ डीएसपी मुख्यालय हंसराज, प्रोजेक्ट डायरेक्टर एनएचएआई, एक्सईएन पीडब्ल्यूडी झज्जर, सहायक सचिव क्षेत्रीय परिवहन प्राधिकरण, यातायात निरीक्षक व रोड सेफ्टी एसोसिएट होंगे। यह टीम घटनास्थल पर जाकर हादसे की वजह की जांच करेगी और अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत करेगी। उन्होंने कहा कि एसआईटी की जांच में जो भी एजेंसी या व्यक्ति दोषी पाया गया तो उसके खिलाफ मोटर व्हीकल एक्ट के तहत कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

स्कूल बसों में होगी सुरक्षा मानकों की जांच

उपायुक्त ने सडक़ सुरक्षा को लेकर जारी निर्देशों में स्कूलों बसों में सुरक्षा इंतजाम, सडक़ों पर सफेद पट्टी-संकेत चिन्ह, स्पीड ब्रेकर्स-ट्रक ले बाइ-बस स्टॉर पर मार्किंग करने, आपातकालीन सेवाओं के लिए एंबुलेंस-रिकवरी वैन आदि, सडक़ों पर बलिंकर्स लगाने-ट्रैफिक लाइट लगाने, सडक़ पर दृश्यता बाधित करने वाली पेड़ों की टहनियां व अन्य वनस्पतियों को हटाने, सडक़ों पर पीक अवर्स के दौरान बस व अन्य भारी वाहनों का शहरी क्षेत्रों में ओवर स्पीडिंग व ओवरलोडिंग के चालान करना आदि से संबंधित विभागों को त्वरित कार्रवाई करने की बात कही गई है। साथ ही सडक़ों पर पुलिस कर्मियों की सुरक्षा के लिए हाई रिफ्लेक्टिव जैकेट्स पहनने तथा बैरिकेड्स पर फ्फ्लैश लाइट लगाई जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *