स्वाइन फ्लू से एक और मौत

दिल्ली : उत्तम नगर स्थित माता रूप रानी मग्गो नर्सिंग होम में हुई लापरवाही के कारण स्वाइन फ्लू के एक मरीज की मौत का मामला सामने आया है। मृतक के परिजनों ने आरोप लगाया कि उपचार के दौरान लापरवाही हुई जिस कारण उनके मरीज ने दम तोड़ दिया। हालांकि नर्सिंग होम प्रशासन ने सभी आरोपों को खारिज किया है। नर्सिंग होम प्रशासन का कहना है कि हमारा नाम खराब करने का प्रयास किया जा रहा है। इस संबंध में पुलिस में शिकायत भी​की है।

वहीं दिल्ली पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि अभी तक हमारे पास ऐसी कोई शिकातय नहीं आई है। पीड़ित पक्ष के तरफ से शिकायत मिलने के बाद नियम के तहत कार्रवाई की जाएगी। वहीं 35 वर्षीय मृतक गौरव पांडे के परिजनों का आरोप है कि नर्सिंग होम के डॉक्टरों ने मरीज को गलत इंजेक्शन लगाया। यहां आइसोलेशन वार्ड भी नहीं है, जिसके बारे में नहीं बताया गया। परिजनों का कहना है कि गौरव की तबीयत खराब होने के बाद 18 अप्रैल को अस्पताल में भर्ती करवाया गया।

यहां शुरुआती जांच में निमोनिया बताया गया, लेकिन 21 अप्रैल को हुए टेस्ट में स्वाइन फ्लू की बात सामने आई। उसके बाद गौरव पांडे को आईसीयू में भर्ती कर लिया गया। परिजनों का आरोप है कि यहां इलाज में भारी लापरवाही हुई। स्वाइन फ्लू की पुष्ठि होने के बाद भी 11 दिनों तक मरीज को अपने पास रखा, जबकि यहां आइसोलेशन वार्ड तक नहीं था। जब गौरव की तबियत अधिक बिगड़ने लगी तो हमने उसे द्वारका के एक अन्य निजी अस्पताल में भर्ती करवाया, जहां उसने दम तोड़ दिया। मृतक की बहन राधिका ने कहा कि मेडिकल काउंसिल को इसकी शिकायत दी हैं।

मिली शिकायत तो होगी कार्रवाई 
दिल्ली स्वास्थ्य विभाग के महानिदेशक डॉक्टर अशोक कुमार ने कहा कि स्वाइन फ्लू से पीड़ित मरीज के उपचार के दौरान हुई लापरवाही का कोई मामला सामने नहीं आया है। यदि कोई शिकायत हमारे पास आती है जो जांच कर उचित कार्रवाई की जाएगी।

अब तक हुईं 21 मौत 
दिल्ली में अब तक स्वाइन फ्लू से 21 मौतें हो चुकी हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आकड़ों के अनुसार 28 अप्रैल तक 3567 लोगों में स्वाइन फ्लू का संक्रमण पाया गया था। इसमें से 21 लोगों की मौत स्वाइन फ्लू से हो चुकी है। विभाग के अनुसार इस वर्ष स्वाइन फ्लू के काफी ज्यादा मामले सामने आए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *