पूर्व सैनिकों से बोले PM- मोदी याद रहे या नहीं, वीरता याद रहनी चाहिए

प्रधानमंत्री नरेंद्र ने सोमवार को इंडिया गेट स्थित राष्ट्रीय युद्ध स्मारक (National War Memorial) का उद्घाटन किया और भारतीय सेना की तारीफ की। पूर्व सैनिकों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, ‘आप सभी भूतपूर्व नहीं, अभूतपूर्व हैं क्योंकि आप जैसे लाखों सैनिकों के शौर्य और समर्पण के कारण ही आज हमारी सेना की गिनती दुनिया की सबसे ताकतवर सेनाओं में होती है।’

पीएम मोदी के भाषण के मुख्य अंश

– इस ऐतिहासिक स्थल से, मैं पुलवामा में शहीद हुए वीर सैनकों और भारत की रक्षा में अपना सर्वस्व न्योछावर करने वाले हर बलिदानी को नमन करता हूं।

– नया भारत आज नई रीति और नई नीति से आगे बढ़ रहा है, मजबूती के साथ विश्व पटल पर अपनी भूमिका तय कर रहा है, इसमें एक बड़ा योगदान आपके शौर्य और समर्पण का है।

– देश का दशकों लंबा इतंज़ार खत्म होने वाला है। आजादी के सात दशक बाद मां भारती के लिए बलिदान देने वालों की याद में निर्मित राष्ट्रीय स्मारक, उन्हें समर्पित किया जाने वाला है।

– राष्ट्रीय समर स्मारक की मांग कई दशकों से निरंतर हो रही थी।

– बीते दशकों में कुछ प्रयास भी हुए, लेकिन कुछ ठोस हो नहीं पाया।

– आपके आशीर्वाद से 2014 में हमने राष्ट्रीय समर स्मारक बनाने की प्रक्रिया शुरु की और आज तय समय से पहले ही इसका लोकार्पण होने वाला है।

– जब देश का सैनिक सशक्त होता है तो सेना भी सशक्त होती है। देश की सेना का मनोबल, देश की सुरक्षा तय करता है। इसलिए हमारे सैनिक, हमारे फौजी भाई हमारे सभी प्रयासों में हमारी अप्रोच का केंद्रबिंदु हैं।

– ये हम सभी के लिए गौरव की बात है कि आज हमारे प्रयासों से दुनिया के बड़े-बड़े देश हमारे साथ कंधे से कंधा मिलाकर चलना चाहते है।

– देश की सुरक्षा में समाज के सभी वर्गों की भागीदारी आवश्यक है। इसी सोच के साथ, पहली बार महिलाओं को फाइटर पायलट बनने का अवसर मिला है। सेना में भी बेटियों की भागीदारी को और मजबूत करने के लिए भी निरंतर फैसले लिए जा रहे हैं।

– हमारे प्रयासों से ही 2016 में हमारे इंटरनेशनल फ्लीट रिव्यु में 50 देशों की नौसेनाओं ने हिस्सा लिया था। यही कारण है कि एक के बाद एक देश हमारे साथ रक्षा सहयोग के क्षेत्र में समझौते करना चाहते हैं।

– साल 2009 में सेना ने 1 लाख 86 हजार बुलेट प्रूफ जैकेट्स की मांग की थी, लेकिन सेना के लिए बुलेट प्रूफ जैकेट्स नहीं खरीदी गईं। हमारी सरकार ने बीते साढ़े चार वर्षों में 2 लाख 30 हजार से ज्यादा बुलेट प्रूफ जैकेट्स खरीदी हैं।

– बोफोर्स से लेकर हेलीकॉप्टर तक सबकी जांच का एक ही परिवार तक पहुंचना, बहुत कुछ कहता है। अब यही लोग पूरी ताकत लगा रहे हैं कि भारत में राफेल विमान न आ पाए। पर अगले कुछ महीनों में जब देश का पहला राफेल आसमान में उड़ान भरेगा तो इनकी सारी साजिशों को ध्वस्त कर देगा।

– देश की सेना को मजबूत करने के लिए हमारी सरकार उसे अत्याधुनिक एयरक्राफ्ट, हेलीकॉप्टर, पनडुब्बियों, जहाज और अन्य हथियारों से युक्त कर रही है।

– वो कौन सी वजहें थीं, जिसकी वजह से किसी का ध्यान अभी तक शहीदों के लिए स्मारक पर नहीं गया। इंडिया फर्स्ट और फैमिली फर्स्ट का जो अंतर है, वही इसका जवाब है। स्कूल से लेकर अस्पताल तक, हाईवे से लेकर एयरपोर्ट तक हर जगह एक ही परिवार का नाम जुड़ा रहता था।

– मोदी महत्वपूर्ण नहीं है, बल्कि इस देश की सभ्यता, संस्कृति और इतिहास सबसे ऊपर है। मोदी याद रहे न रहे, परंतु इस देश के करोड़ों लोगों की तपस्या, समर्पण, वीरता और उनकी शौर्यगाथा अजर-अमर रहनी चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *