शिक्षा का उद्देश्य मात्र नौकरी पाना नहीं : मनीष ग्रोवर

 स्थानीय रूप नगर स्थित सरस्वती वंदना सीनियर सैकेंडरी स्कूल का वार्षिकोत्सव आज धूमधाम से सम्पन्न हुआ। मुख्य अतिथि सहकारिता मंत्री मनीष ग्रोवर ने कहा कि उन्होंने पिछले 4 वर्षों में 54 हजार लोगों को रोजगार देने का काम किया है। हमारी भाजपा सरकार ने बिना सिफारिश नौकरियां लगाई और कोई रिश्वत नहीं ली। उन्होंने कहा कि आने वाले समय में 1 लाख लोगों को और नौकरियां लगाने का लक्ष्य सरकार के समक्ष है। उन्होंने कहा कि डी-ग्रुप और पुलिस में हुई भर्तियां पूरी तरह से पारदर्शी तरीके से हुई हैं।
उन्होंने कहा कि भाजपा का एकमात्र लक्ष्य बच्चों को सुशिक्षित करके उनका स्र्वागीण विकास करना है। इसीलिए शिक्षा नीति को दिन-प्रतिदिन निखारा जा रहा है ताकि बच्चों को उनकी काबलियत के हिसाब से नौकरियां मिल सकें। उन्हें नौकरियों के लिए किसी सिफारिश की जरूरत न पड़े। उन्होंने कहा कि पूर्व की शिक्षा नीति के कारण शिक्षा का एकमात्र लक्ष्य मात्र नौकरी पाना था। लेकिन शिक्षा का मूल उद्देश्य बच्चे को इस काबिल बनाना है कि वो समाज व परिवार के साथ सामंजस्य स्थापित करके देश का एक अच्छा नागरिक बन सके। उन्होंने कहा कि पहले की सरकारों ने शिक्षा नीति पर कोई ध्यान नहीं दिया। जिसके कारण बेरोजगारी दिन-प्रतिदिन बढ़ती गई और युवा शिक्षा पाकर दिशाहीन हो गये। जिसका नतीजा पुलवामा जैसी घटनाएं हैं। उन्होंने कहा कि बच्चे को जो संस्कार मां से मिलते हैं स्कूलों का काम उन संस्कारों में निखार लाकर बच्चे को देश का एक सफल नागरिक बनाना है।
सहकारिता मंत्री ने कहा कि माननीय मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने जब से प्रदेश की कमान संभाली है वो स्वयं शिक्षा नीति को सफल बनाने के लिए दिन-रात प्रयासरत हैं। जिसका नतीजा है कि जो युवा पहले सिफारिशें ढूंढते थे। वो अब दिन-रात लाईब्रेरियों में अपने अध्यापन में समय व्यतीत करते हैं। क्योंकि भाजपा शासनकाल में जो भी भर्तियां हुई हैं वह पूर्णतया निष्पक्ष हुई हैं। इसलिए युवाओं ने खुद के अध्ययन पर ध्यान देना शुरू कर दिया है।
इस अवसर पर स्कूली बच्चों ने सबसे पहले पुलवामा के शहीदों की शहादत को नमन करते हुए देशभक्ति गीतों व नृत्य से दर्शकों की अन्तर आत्मा को झंझकोर कर रख दिया। अपनी सांस्कृतिक गतिविधियों से बच्चों ने सारे माहौल को गमगीन कर दिया। दर्शकों ने भी इस अवसर पर सहकारिता मंत्री को आश्वस्त किया कि इस दुख की घड़ी में पूरा देश आपके साथ है तथा अब समय आ गया है कि हम इन घटनाओं का मुंह तोड़ जवाब दें।
इस अवसर पर मेयर मनमोहन गोयल, स्कूल निदेशक देवेन्द्र वशिष्ठ, डॉ. वी.के. जैन, राम अवतार वाल्मीकि सहित स्कूल स्टाफ, अभिभावक व बच्चे मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *