विद्यार्थियों में शिक्षा के गहन अध्ययन के प्रति जिज्ञासा उत्पन्न कराना है लक्ष्य: प्रो.एस के गक्खड़

“IGU को मिले स्थाई कुलपति, प्रो.  एस के गक्खड़ ने संभाला पदभार”

(जतिन चाँदना) इंदिरा गांधी विश्वविद्यालय में प्रो.एस.के. गक्खड़ ने नए कुलपति का कार्यभार संभाल लिया है। इस अवसर पर विश्वविद्यालय के शिक्षक और अधिकारी उपस्थित थे।कुलपति का कार्यभार सम्भालते हुए प्रो. एस.के. गक्खड़ ने कहा कि उनका लक्ष्य ग्रामीण क्षेत्र में स्थित इस विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों में शिक्षा के गहन अध्ययन के प्रति जिज्ञासा उत्पन्न कराना है।गौरतलब है कि प्रो.गक्खड़ इससे पूर्व चौ बंसीलाल विश्वविद्यालय भिवानी में भी कुलपति का पद सुशोभित कर चुके हैं और वँहा पूर्णतया रूप से नक़ल रहित परीक्षा करवाकर चर्चा का विषय रहे थे।
चौ.बंसीलाल विश्वविद्यालय,भिवानी के कुलपति का पदभार संभालने से पूर्व प्रो. गक्खड़ महर्षि दयानन्द विश्वविद्यालय, रोहतक में जीवन विज्ञान के डीन फैकल्टी थे।
यहां यह गौरतलब है कि प्रो. एस.के. गक्खड़ एक प्रतिष्ठित वैज्ञानिक भी है, जिनकी भिवानी जिले के गाँव जमालपुर जन्मभूमि है, जिन्होंने कुरूक्षेत्र विश्वविद्यालय, कुरूक्षेत्र से बी.एससी., एम.एससी व पी.एचडी. की डिग्री भी प्राप्त की है। इसके अतिरिक्त महर्षि दयानन्द विश्वविद्यालय, रोहतक से कानून में स्नातक की डिग्री की प्राप्त की हुई है।
एक प्रसिद्ध जेनेटिक अभियन्ता व इम्यूनोलॉजिस्ट  प्रो. गक्खड़ ने अपने शैक्षिक कैरियर की शुरूआत सन 1985 में कुरूक्षेत्र विश्वविद्यालय में व्याख्याता के रूप में की। तत्पश्चात जीवन विज्ञान संकाय, महर्षि दयानन्द विश्वविद्यालय, रोहतक में अध्यापन किया। प्रो. गक्खड़ का शिक्षण व अनुसंधान के क्षेत्र में 35 वर्ष से भी अधिक अनुभव रहा है।
इन्हें अखिल भारतीय चिकित्सा संस्थान नई दिल्ली में बायोटेक्नोलॉजी नेशनल एसोसिएट के रूप में तथा कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय, इरविन, यूएसए में विजिटिंग साइंटिस्ट और सुयंक्त राज्य अमेरिका के कोल्ड स्प्रिंग लेबोरेटरी में भी कार्य का अनुभव है।प्रो.गक्खड़ का विज्ञान के क्षेत्र में अद्भुत अनुभव है, इसी के परिणामस्वरूप उनको विकासात्मक जीव विज्ञान के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य के लिए युवा वैज्ञानिक पुरस्कार से सम्मानित किया गया है।
उन्होंने महर्षि दयानन्द विश्वविद्यालय, रोहतक को नैक बैंगलोर द्वारा मान्यता प्रक्रिया का समन्वय करके ए ग्रेड दिलवाने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा की है। महर्षि दयानन्द विश्वविद्यालय, रोहतक में महत्वपूर्ण पदों की जिम्मेदारियों को बेखूभी निभाया है। जैसे निदेशक, उच्चतर शिक्षा अभियान (रूसा), पुस्तकालयाध्यक्ष, जैव प्रौद्योगिकी केन्द्र, जैव सूचना केन्द्र आदिक के संस्थापक निदेशक इत्यादि।
इसके अतिरिक्त निदेशक दूरस्थ शिक्षा निदेशालय, कम्प्यूटर केन्द्र, जनसम्पर्क आदि का कार्यभार भी संभाला। इन्होंने एमडी/एमएस के राज्य स्तरीय प्रवेश के लिए, राज्य स्तरीय इंजिनियरिंग प्रवेश, राज्य पीएमटी, बी.एड प्रवेश आदि के लिए मुख्य गोपनियता अधिकारी का कार्यभार भी पूरी ईमानदारी एवं कर्तव्यनिष्ठा के साथ निभाया। वहीं पीएम की यात्रा के लिए वार्डन और प्रोटोकॉल अधिकारी जैसे महत्वपूर्ण पदों पर भी कार्य किया है। प्रो. गक्खड़ बायोटेक्नोलॉजिकल एसोसिएशन और एमडीयू लाइफ साइंसेज एलुमनी एसोसिएशन के संस्थापक अध्यक्ष भी रहे हैं।

5 thoughts on “विद्यार्थियों में शिक्षा के गहन अध्ययन के प्रति जिज्ञासा उत्पन्न कराना है लक्ष्य: प्रो.एस के गक्खड़

  1. Nice post. I was checking continuously this blog and I’m impressed!
    Extremely helpful information specially the last part 🙂 I care for such info a lot.
    I was seeking this particular information for a very long time.

    Thank you and good luck.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *