मोटर व्हीकल के दस्तावेज़ के लिए 30 सितंबर तक छूट, परिवहन मंत्रालय ने जारी की एडवाइज़री

Chandigarh

सरकार ने मोटर वाहन अधिनियम और केंद्रीय मोटर वाहन नियमों के तहत अनिवार्य सभी दस्तावेजों की वैधता 30 सितंबर 2020 तक के लिए बढ़ा दी है। इस फैसले को समझें तो जिन लोगों के दस्तावेज की वैधता एक फरवरी 2020 से 30 सितंबर 2020 के बीच समाप्त हो रही है, उसकी वैधता 30 सितंबर 2020 तक बढ़ा दी गई है। उत्तर प्रदेश सरकार ने भी इसे लागू कर दिया है।

कोरोना वायरस के चलते लिया फैसला

कोरोना मरीजों की स्थिति को देखते हुए परिवहन मंत्रालय ने ये फैसला लिया है। कोरोना की इस स्थिति में कई लोगों के लिए दस्तावेजों का नवीनीकरण कराना संभव नहीं है। केंद्र सरकार ने पहले ही ड्राइविंग लाइसेंस, परमिट और रजिस्ट्रेशन जैसे दस्तावेज की वैधता 30 जून तक बढ़ा दी थी। अब ये 30 सितंबर तक कर दी गई है। इस मामले में सभी राज्यों को एक एडवाइजरी भी जारी कर दी गई है।

25 मार्च से लागू लॉकडाउन का पांचवा चरण चल रहा है, लेकिन केंद्र और राज्य सरकारों के लिए सबसे बड़ी समस्या मरीजों की बढ़ती संख्या है। तमाम कोशिशों के बाद भी कोरोना मरीजों की संख्या कम होने का नाम नहीं ले रही है। देश में सबसे ज्यादा मरीज महाराष्ट्र से सामने आए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *