कृषि मंत्री धनखड़ ने हरियाणा में रेलवे तंत्र के विस्तार को लेकर केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल से की मुलाकात

Spread the love
झज्जर, समाचार क्यारी, संजय शर्मा /रवि कुमार:- हरियाणा के कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ ने राज्य में रेलवे से जुड़ी विभिन्न परियोजनाओं को लेकर आज नई दिल्ली में केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल से मुलाकात की। केंद्रीय मंत्री से नई दिल्ली स्थित रेल भवन में सोमवार को मुलाकात के दौरान कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री ने हरियाणा से जुड़ी विभिन्न परियोजनाओं का सिलसिलेवार विवरण रखते हुए इन पर शीघ्रता से काम आरंभ कराने का आग्रह किया। रेल मंत्री पीयूष गोयल ने सभी मांगों को ध्यानपूर्वक सुना और उन पर सहानुभूतिपूर्वक कार्य करने का आश्वासन दिया।
मुलाकात से आश्वस्त नजर आए श्री ओमप्रकाश धनखड़ ने जानकारी देते हुए बताया कि बीते आम बजट में स्वीकृत हो चुकी गुरूग्राम जिला के फर्रूखनगर से चरखी दादरी वाया झज्जर रेल लाइन बिछाने के कार्य को शीघ्रता से आरंभ कराने, रिवाड़ी-रोहतक वाया झज्जर रेल लाइन पर कुलाना में हाल्ट तथा कुण्डली-मानेसर-पलवल (केएमपी)एक्सप्रेस वे के साथ रेलवे लाइन बिछाने की योजना पर शीघ्रता से काम करने की मांग केंद्रीय मंत्री के समक्ष की। उन्होंने अपनी मांगों के साथ इन परियोजनाओं के महत्व की जानकारी से भी केंद्रीय मंत्री को अवगत कराया। कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री ने मुलाकात के उपरांत जानकारी देते हुए बताया कि केंद्र सरकार ने बीते आम बजट में फर्रूखनगर से चरखी दादरी वाया झज्जर रेलवे लाइन की घोषणा की थी। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली से हरियाणा के बड़े हिस्से को वैकिल्पक लिंक प्रदान करने के लिए यह वर्षों पुरानी मांग थी। जिसे केंद्र सरकार ने बजट घोषणा में शामिल करते हुए पूरा किया और अब इस परियोजना के निर्माण का कार्य शीघ्रता से आरंभ होगा।
कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री ने बताया कि रिवाड़ी से झज्जर के बीच में कुलाना अनेक गांवों का बड़ा केंद्र बिंदू है जब रिवाड़ी-रोहतक वाया झज्जर रेल लाइन बिछाई जा रही थी तो उस समय इस इलाके के लोगों ने कुलाना में हाल्ट की मांग की थी लेकिन इस मांग को उस समय दरकिनार कर दिया गया था। उन्होंने बताया कि कुलाना व आस-पास के ग्रामीणों की इस मांग की जब उन्हें जानकारी मिली तो उन्होंने इस विषय का अध्ययन कराया तो उनकी यह मांग जायज मिली। इसी के चलते उन्होंने क्षेत्रवासियों की मांग से केंद्रीय रेल मंत्री को अवगत कराया। वहीं राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के बाइपास के तौर पर कुण्डली-मानेसर-पलवल एक्सप्रेस वे एक बड़ी परियोजना है। आने  वाले समय में केएमपी के साथ पांच नए शहर पंचग्राम से नाम से बसाए जाने की राज्य सरकार की योजना भी है। उन्होंने मुलाकात के उपरांत उम्मीद जाहिर करते हुए बताया कि केएमपी के समीप भविष्य में होने वाली बसावट की जरूरतों को देखते हुए इस बड़ी सडक़ परियोजना के साथ-साथ रेल लिंक तैयार होने से राजधानी दिल्ली की स्टेशन पर रेलवे ट्रैफिक का दबाव तो कम होगा साथ ही झज्जर जिला सहित हरियाणा के एक बड़े हिस्से में रेलवे का बड़ा तंत्र विकसित होगा। साथ ही इलाके में विकास व रोजगार के नए अवसर पैदा होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *