दोहरी मुसीबत: तरफ ठंड बढ़ने से पारा नीचे चला गया, तो वहीं दूसरी तरफ प्रदूषण

सोमवार को दिल्ली वालों ने दोहरी मुसीबत झेली. एक तरफ ठंड बढ़ने से पारा नीचे चला गया, तो वहीं दूसरी तरफ प्रदूषण और कोहरे की वजह से सोमवार सुबह विजिबिलिटी बेहद कम हो गई. साथ ही लोगों को सांस लेने में दिक्कत भी होने लगी. ऐसा इस वजह से हुआ क्योंकि आसमान में स्मॉग की मात्रा बढ़ गई है.

हवा रुकी तो बढ़ गया प्रदूषण

दिल्ली के मौसम विभाग में सीनियर साइंटिस्ट कुलदीप श्रीवास्तव का कहना है क‍ि सोमवार सुबह दिल्ली में हवाओं की रफ्तार बिल्कुल थम गई थी. इसकी वजह से हवा में मौजूद प्रदूषण कोहरे के साथ मिलकर खतरनाक स्मॉग बन गया. जिसकी वजह से एक तरफ विजिबिलिटी 300 मीटर तक पहुंच गई  तो वहीं दूसरी ओर लोगों को सांस लेने में भी दिक्कत का सामना करना पड़ा.

थमी हुई है हवा की रफ्तार

श्रीवास्तव ने आगे कहा क‍ि आने वाले 2 से 3 दिन स्थिति ब‍िल्‍कुल जस की तस रहने वाली है क्योंकि हवा की रफ्तार थमी हुई है. हालांकि, इससे एक फायदा है कि तापमान में थोड़ी सी बढ़ोतरी हुई है. रविवार के मुकाबले सोमवार को मिनिमम टेंपरेचर में 1 डिग्री की बढ़ोतरी हुई है.

26 दिसंबर से दोबारा बढ़ेगी ठंड और कोहरा

दरअसल,  बर्फीली हवा चलते ही दिल्ली को अपनी जकड़ में ले लेगी और क्रिसमस के अगले दिन यानी 26 दिसंबर से इसका प्रभाव दिल्ली में साफ तौर पर नजर आने लगेगा. ठंडी हवा चलने से तापमान नीचे जाएगा. वहीं,  दूसरी ओर कोहरा भी बढ़ेगा. इसकी वजह से ठंड का अहसास ज्यादा होगा. ऐसे में माना जा सकता है कि नए साल की शुरुआत दिल्ली में कंपकंपाती सर्दी और घने कोहरे के बीच होगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *