Corona होम केयर पैकेज : मेडिकल स्टाफ की निगरानी में घर पर ही ठीक किया जा सकता है मरीजों को

नई दिल्ली. कोरोना के तेजी से बढ़ते मरीजों और अस्पतालों में आ रही भीड़ को कम करने के लिए सरकारें होम आइसोलेशन पर जोर दे रही हैं. इसी कड़ी में दिल्ली-एनसीआर के कई बड़े प्राइवेट अस्पताल  भी कोरोना मरीजों के लिए होम केयर स्कीम ले आए हैं. मेदान्ता मेडिसिटी, फोर्टिस और मैक्स हेल्थकेयर ने होम केयर पैकेज शुरू किए हैं, जिनमें मरीजों को मेडिकल किट आदि देने के साथ ही 14-17 दिन तक उनकी देखभाल भी की जा रही है. सुविधा के आधार पर इन पैकेज के अलग-अलग चार्ज तय किए गए हैं.निजी अस्पतालों का कहना है कि 70-75 फीसदी कोरोना के मामलों में हल्के लक्षण मिल रहे हैं जिन्हें मेडिकल स्टाफ की निगरानी में घर पर ही ठीक किया जा सकता है.

मेदान्ता मेडिसिटी में 4900 से 21900 तक का पैकेज

गुरुग्राम स्थित मेदांता मेडिसिटी ने कई होम केयर पैकेज शुरू किए हैं. कोरोना होम केयर पैकेज में अलर्ट मेकेनिज़्म के साथ रोजाना मॉनिटरिंग की जाती है. इसमें कोविड पेशेंट की नर्सों के द्वारा दिन में दो बार मॉनिटरिंग 3-7-10 और 15 दिन में डॉक्टर का रिव्यु, डाइटिशियन कंसल्टेशन, मेडिसिन की होम डिलीवरी और साइकोलॉजिकल कंसल्टेशन शामिल है. अस्पताल की ओर से मरीज को एक कोविड किट दी जाएगी. जिसमें एक एसपीओ-2 मॉनिटर, बीपी मशीन, 4 एन95 मास्क, 4 पीपीई किट, एक ग्लूकोमीटर आदि शामिल है.मेदान्ता का सबसे सस्ता पैकेज 4900 रुपये का है. इसके बाद 9900 रुपए का एडवांस कोविड केयर पैकेज है. 11900 रुपये का एडवांस प्लस कोविड केयर पैकेज है, जिसमें कुछ और सुविधाएं जोड़ी गई है. वहीं सबसे महंगा पैकेज 21900 रुपये का है.

पैनिक न करें मरीज, घर पर रहकर हो सकता है बेहतर इलाज

मेदांता में डायरेक्टर और मेडिसिन की हेड सुशीला कटारिया कहती हैं कि यह सभी पैकेज लोगों को घर पर ही कोविड के दौरान सभी सुविधाएं देने के लिए शुरू किए गए हैं. इन पैकेज के द्वारा लोगों को यह भी बताने की कोशिश की जा रही है कि कोरोना होने के बाद घबराकर अस्पतालों की ओर भागने के बजाय घर पर रहकर अपने स्वास्थ्य का ख्याल रखें और यह बेहतर भी है. इसमें डॉक्टर लगातार आपके स्वास्थ्य पर नज़र बनाये रखते हैं और इमरजेंसी में अस्पताल भी आपके लिए खुला है.

डॉ.कटारिया कहती हैं कि कोरोना होने पर सिर्फ कुछ फीसदी लोगों को ही वेंटिलेटर की ज़रूरत होती है लेकिन डर और जागरूकता के अभाव के चलते लोग सीधे अस्पतालों में आते हैं. ऐसा न करके लोग घरों पर ही आइसोलेटेड रहें. मेदान्ता में अभी तक करीब 100 लोग होम आइसोलेशन की सेवाओं का लाभ लेने के लिए रजिस्ट्रेशन करा चुके हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *