कांग्रेस ने गोवा में उपमुख्यमंत्रियों की नियुक्ति को बताया आचार संहिता का उल्लंघन

कांग्रेस ने गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत पर उपमुख्यमंत्रियों की नियुक्ति कर आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन करने का शनिवार को आरोप लगाया।  प्रदेश कांग्रेस के नेता त्रजानो डी मेलो ने इस संबंध में भारत चुनाव आयोग के पास शिकायत दर्ज कराई है।

भाजपा नीत गोवा सरकार ने 20 मार्च को शासनादेश जारी कर महाराष्ट्रवादी गोमांतक पार्टी के सुदीन धावलिकर और गोवा फॉरवर्ड पार्टी के विजय सरदेसाई को उपमुख्यमंत्री नियुक्त किया था। मनोहर पर्रिकर के निधन के बाद सावंत ने 19 मार्च को गोवा के नये मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ली थी।

अगले दिन सामान्य प्रशासन की अवर सचिव वर्षा नाइक ने शासनादेश जारी कर धावलिकर एवं सरदेसाई की नियुक्ति की घोषणा की।

प्रदेश कांग्रेस ने मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा के समक्ष दलील दी कि सरकार को आदर्श आचार संहिता लागू होने के बाद ऐसी कोई घोषणा नहीं करनी चाहिए थी जो मतदाताओं को प्रभावित कर सकती है।

डी मेलो के आवेदन में कहा गया कि चुनाव आयोग को तत्काल इस आदेश को निरस्त कर देना चाहिए और संबंधित अधिकारी एवं राज्य सरकार पर आचार संहिता के उल्लंघन के लिए कार्रवाई करनी चाहिए।

गोवा की दो लोकसभा सीटों एवं विधानसभा की तीन सीटों पर उपचुनाव 23 अप्रैल को होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *