हर हाथ को काम, हर महिला को सुरक्षा और बुर्जगों को देंगे सम्मान – दुष्यंत चौटाला 

प्रत्येक परिवार की न्यूनतम आय 14 हजार रूपये सुनिश्चित करेंगे – दुष्यंत चौटाला
चंडीगढ़, समाचार क्यारी /सारिका तिवारी:- जेजेपी समाज के प्रत्येक वर्ग, हर धर्म-जाति को साथ लेकर चलने के लिए प्रतिबद्ध है। जेजेपी के सत्ता में आने पर हर बेरोजगार को काम देंगे ताकि वह अपने मां-बाप के सपनों को पूरा करते हुए अपने परिवार को उन्नति के रास्ते पर लेकर जा सके। हरियाणा में प्रत्येक कोने में महिलाएं व बेटियां अपनी सुरक्षा को लेकर चिंतित हैं, जेजेपी हर औरत की सुरक्षा सुनिश्चित कर उसे खुली आबो-हवा में चैन से सांस लेने का वातावरण प्रदान करेगी और प्रत्येक बुजूर्ग को प्रति माह तीन हजार रूपये पेंशन देकर उनका सम्मान किया जाएगा। यह जननायक जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व सांसद  दुष्यंत चौटाला ने कही।

दुष्यंत चौटाला ने यहां जारी बयान में कहा कि हर बेरोजागर युवा के हाथ को रोजगार देने के लिए उनके पास एक वृहत योजना है। प्रत्येक  पढ़े-लिखे युवा को रोजगार मिले, इसके लिए सत्ता में आते ही निजी क्षेत्र में हरियाणा के युवाओं के लिए 75 प्रतिशत पद आरक्षित किए जाएंगे ताकि जिस उद्योग व निजी क्षेत्र को हरियाणा अपनी जमीन, बिजली पानी और अन्य सेवाएं देता है, उसके बदले उनके उद्यम में हरियाणा के युवाओं को रोजगार सुनिश्चित हो। इतना ही नहीं सरकारी नौकरियों के आवेदन के लिए कोई फीस नहीं ली जाएगी, विभिन्न पदों के लिए आयोजित की जाने वाली लिखित परीक्षा गृह जिले में होगी। प्रदेश के हर शहर-कस्बे में रोजगार मेले लगाए जाएंगे। रोजगार मेले में युवाओं को उनकी योग्यतानुसार रोजगार प्रदान करने हेतु कंपिनयों के वरिष्ठ  पदाधिकारी स्वयं मौजूद रहेंगे। दिल्ली, गुरुग्राम आदि बड़े शहरों में हरियाणा के युवाओं के लिए छात्रावास खोले जाएंगे।

दुष्यंत चौटाला ने कहा कि सत्ता में आने पर वृद्धावस्था पेंशन कानून में बदलाव लाकर महिला के लिए न्यूनतम आयु घटा कर 55 वर्ष व पुरूषों के लिए न्यूनतम आयु घटा कर 58 वर्ष कर दी जाएगी और प्रतिमाह मिलने वाली वृद्धावस्था पेंशन बढ़ा कर 3 हजार रूपये की जाएगी। यह पेंशन लेने के लिए बुजूर्र्गाें को बैंकों के चक्कर नहीं लगाने नहीं पड़ेंगे बल्कि उनके घरों में पेंशन पहुंचेगी। दुष्यंत ने कहा कि किसान, मजदूर, कमेरे वर्ग के परिवार की आय सुनिश्चित करने के लिए न्यूनतम वेतन 14 हजार रुपए निर्धारित किया जाएगा, एक दिन की न्यूनतम मजदूरी 600 रुपये होगी। बेटियां की पहली से लेकर पीएचडी तक की शिक्षा निशुल्क होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *