पंजाब कैबिनेट का बड़ा फैसला, शिक्षकों और नर्सों को किया गया रेगुलर

चंडीगढ़ः सीएम अमरिंदर सिंह के आवास स्थान पर हुई पंजाब कैबिनेट की मीटिंग में आज अध्यापकों और नर्सों की मांगे मान ली गई हैं। पंजाब कैबिनेट में 5178 अध्यापकों और 650 नर्सों को रेगुलर करने का फैसला लिया गया है। पंजाब कैबिनेट की बैठक में अध्यापकों और नर्सों को सरकार से उम्मीद ती और सरकार उनकी उम्मीदों पर खरी उतरी है। सरकार का ये फैसला 1 अक्टूबर 2019 से लागू कर दिया जाएगा।  इंटों के भट्टे होंगे चालू
इसके अलावा पंजाब कैबिनेट की मीटिंग में पंजाब में बंद किये गए ईटों के भट्टों को दोबारा शुरु करने का आदेश भी दिया गया है। कैबिनेट में फैसला लिया गया है कि ईटों के भट्टों को कुछ शर्तों के साथ शुरु किया जाएगा। यह फैसला इसी साल 30 सितंबर 2019 से लागू कर दिया जाएगा।

मान भत्ता बढ़ाया
पंजाब कैबिनेट की मीटिंग में ग्रामीण विकास विभाग के अधीन वेटनरी फर्मासिस्ट और सफाई सेवको का मान भत्ता भी बढ़ाया गया है। वेटनरी फर्मासिस्ट का मान भत्ता बढ़ाकर 8 हजार से 9 हजार और सफाई सेवको का 4 हजार से 4500 किया गया।यह मान भत्ता कर्मियो को जुलाई से मिलना शुरु हो जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *