कठिन परिश्रम के सामने असम्भव कुछ भी नहीं- सुखदीप सिंह चकरिया

जतिन/राजा (टोरंटो) प्रोफेशनल बॉक्सिंग की दुनियाँ में बड़ी तेजी से उभरते हुए 26 वर्षीय युवा मुक्केबाज सुखदीप सिंह चकरिया देश के कई युवाओँ के लिए रोल मॉडल बन चुके हैं। पंजाब में लुधियाना जिले के छोटे से गाँव चकर में जन्मे मुक्केबाज सुखदीप सिंह अब प्रोफेशनल बॉक्सिंग में अपने सपने सच करने के लिए कनाडा चले गए हैं। संवाददाता राजा चाँगिया से एक साक्षात्कार के दौरान खास बातचीत में उन्होंने बताया कि उनका आगामी मुकाबला यूनाईटेड बॉक्सिंग प्रोमोशन द्वारा आयोजित मिडल वेट कैटगरी  में 14 सितम्बर को कनाडा के टोरंटो में खेला जाएगा।यह मुकाबला 8 राउंड का होगा।गौरतलब है कि मुक्केबाज सुखदीप सिंह चकरिया प्रोफेशनल मुक्केबाजी में  पाँच अंतराष्ट्रीय मुकाबले लगातार जीत चुके हैं।चकरिया ने इसी वर्ष जनवरी में कनाडा के प्रमुख प्रोफेशनल मुक्केबाज मिच लुइस चार्ल्स को 6-0 से हराकर शानदार जीत दर्ज की थी।प्रो.बॉक्सिंग से पहले एमच्योर बॉक्सिंग में भी चकरिया 2012 में मुंबई में आयोजित सुपर कप व 2013 में 59 वीं सहारा सीनियर पुरूष नेशनल बॉक्सिंग चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल हासिल कर चुके हैं। सुखदीप सिंह प्रो.बॉक्सिंग में इस मुकाम तक पहुँचने का श्रेय टीम चकरिया, अपने पेरेंट्स व कोच को देते हैं।चकरिया अपना अनुभव साँझा करते हुए कहते हैं कि कठिन परिश्रम के सामने असम्भव कुछ भी नहीं होता।सुखदीप सिंह का अब मुख्य लक्ष्य प्रोफेशनल बॉक्सिंग में सीनियर वर्ल्ड टाईटल के खिताब को जीत कर वर्ल्ड चैंपियन बनना है जिसके लिए वे कनाडा में कड़ा अभ्यास कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *