जमात से जुड़े 960 विदेशियों के 10 साल तक भारत आने पर रोक

Spread the love

नई दिल्ली. तब्लीगी जमात की गतिविधियों में शामिल 960 विदेशियों के भारत आने पर 10 साल तक सरकार ने रोक लगा दी है। न्यूज एजेंसी ने सूत्रों के हवाले से गुरुवार को यह जानकारी दी। इससे पहले उत्तरी दिल्ली में इसी साल 24 फरवरी को हुई हिंसा के मामले में पुलिस ने नई चार्जशीट पेश की थी। इसमें कहा गया था कि हिंसा के तार तब्लीगी जमात और यूपी के दारुल उलूम देवबंद से जुड़े हैं। 24 फरवरी को पूर्वी दिल्ली में सीएए और एनआरसी के विरोध में हिंसा हुई थी। पहला केस चांद बाग हिंसा और दूसरा मामला जाफराबाद दंगे से जुड़ा है। पुलिस ने चांद बाग हिंसा मामले में आम आदमी पार्टी के पूर्व पार्षद ताहिर हुसैन को दंगों का मास्टरमाइंड बताया है। पुलिस ने कड़कड़डूमा कोर्ट में दो चार्जशीट दाखिल की थीं। ताहिर के अलावा उनके भाई शाह आलम समेत 15 लोगों को आरोपी बनाया है। चार्जशीट में दिल्ली पुलिस ने कहा है कि हिंसा के वक्त ताहिर हुसैन अपने घऱ की छत पर था और उसने ही हिंसा भड़काने का काम किया था।

  • उत्तर-पूर्वी दिल्ली के शिव विहार में राजधानी स्कूल के पास भड़की हिंसा के मामले में पुलिस ने जो चार्जशीट दाखिल की है। उसमें राजधानी स्कूल के मालिक फैसल फारुक को आरोपी बनाया गया है। चार्जशीट में कहा गया कि हिंसा के मामलों से पहले उत्तर प्रदेश के दारुल उलूम देवबंद गया था। उसके निजामुद्दीन मरकज से भी ताल्लुकात हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *