अटारी-वाघा सीमा पर रोजाना होने वाला बीटिंग रिट्रीट समारोह आज निरस्त : BSF

भारतीय वायु सेना ने विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान की आज पाकिस्तान से रिहाई हो रही है। विंग कमांडर अभिनंदन के जोरदार स्वागत के लिए भारत-पाकिस्तान की सीमा अटारी-वाघा बॉर्डर पर लोग पहुंचने लगे हैं। कई लोग तिरंगे के साथ वहां पहुंच गए हैं और अभिनंदन का स्वागत करने को तैयार हैं।

– आज नहीं होगा अटारी-वाघा सीमा पर रोजाना होने वाला बीटिंग रिट्रीट समारोह।

 भारतीय पायलट की रिहाई रोकने के लिए इस्लामाबाद हाई कोर्ट में याचिका दायर।

 पाकिस्तान ने पायलट अभिनंदन को विमान से भेजने के भारत के अनुरोध को ठुकराया।

भारतीय वायु सेना ने विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान की रिहाई की घोषणा का स्वागत करते शुक्रवार को कहा कि वह पायलट की वतन वापसी देखना चाहता है। वायु सेना के सूत्रों के अनुसार विंग कमांडर अभिनंदन के स्वागत के लिए भारतीय वायु सेना की एक टीम वाघा सीमा पर पहुंचेगी।

इस बीच पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से आग्रह किया था कि वह जांबाज पायलट के स्वागत के लिए मौके पर पहुंचना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि वह फिलहाल अमृतसर में हैं और पाकिस्तान द्वारा हिरासत में लिए गये बहादुर पायलट के स्वागत के लिए वह वाघा सीमा पहुंच रहे हैं।

उन्होंने कहा,‘‘शूरवीर का स्वागत करना उनके लिए गौरव की बात होगी।’’ इसके पहले एयर वाइस मार्शल आर जी के कपूर ने पत्रकारों से गुरुवार को कहा था कि जिनेवा संधि के तहत पाकिस्तान विंग कमांडर अभिनंदन को रिहा कर रहा है। उन्होंने भारतीय सैन्य ठिकानों पर हमले में एफ-16 लड़कू विमानों का इस्तेमाल नहीं करने के पाकिस्तान के दावे को पूरी तरह खारिज करते हुए कहा था कि जवाबी कार्रवाई में इस विमान को मार गिराया गया और इसके सबूत भी पेश किये।

वायुसेना, थलसेना, नौसेना के कल शाम आयोजित संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में एयर वाइस मार्शल कपूर ने बताया कि पाकिस्तानी वायु सेना के कई लड़कू विमानों ने बुधवार को सुबह भारतीय वायु सीमा का उल्लंघन करते हुए राजौरी के सुंदरबनी क्षेत्र में सेना के ठिकानों पर बम गिराने की कोशिश की। हालांकि भारतीय वायु सेना ने समय रहते हुए कार्रवाई कर उन्हें खदेड़ दिया और पाकिस्तान के एक एफ-16 विमान को मार गिराया। यह विमान पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में गिरा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *