महिला आयोग के सामने सोनाली ने पेश किए तथ्य, ऑडियो भी सुनाई

Spread the love

हिसार. पांच जून को बालसमंद में भाजपा नेत्री सोनाली फौगाट द्वारा मार्केट कमेटी के सचिव को सरेआम पीटने का मामला महिला आयोग पहुंच गया। राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष प्रतिभा सुमन व आयोग सदस्य सुमन बेदी सोमवार को हिसार पहुंचीं। उन्होंने एसपी गंगाराम पूनिया व डीएसपी से मामले की जानकारी ली। फिर टिकटॉक स्टार भाजपा नेत्री फौगाट को बुलाया। बंद कमरे में करीब 45 मिनट पूछताछ हुई। आयोग को सोनाली ने 8 मिनट की एक ऑडियो रिकॉर्डिंग सुनाई।

दावा किया कि सचिव ने महिलाओं पर डर्टी कमेंट्स किए हैं। इसी के बाद मामला उनके पक्ष में जाता दिखाई देने लगा। रिकॉर्डिंग सुनने के बाद अध्यक्ष ने कहा कि वायरल वीडियो देखकर सोनाली को गलत मानती थीं, मगर ऑडियो सुनने के बाद लगा कि उन्होंने जो किया वह सही था। सचिव की भाषा अभद्र थी। महिलाओं के मान-सम्मान को ठेस पहुंचाने वाले बार-बार पिटेंगे। सचिव का महिलाओं के प्रति दृष्टिकोण सही नहीं है। ऐसे में कोई भी आपा खो सकता है, जो रिकॉर्डिंग सुनी है वह समाज के लिए घातक है।

ऑडियो राजनीतिक दलों की महिलाओं के सम्मान पर धब्बा, सचिव ने किया था डर्टी कमेंट
आयोग की अध्यक्ष प्रतिभा सुमन का कहना है कि ऑडियो को सामाजिक रूप से सार्वजनिक नहीं कर सकते हैं। महिलाओं के ऊपर अंगुली उठी है। विशेषकर राजनीतिक दलों की महिलाओं पर डर्टी कमेंट्स वाली ऑडियो उनके मान-सम्मान पर धब्बा है। सोनाली ने जो बताया उसके अनुसार मंडी में सचिव ने डर्टी कमेंट्स किए थे।

सोनाली के सबूत अलग-अलग महिलाओं से भी जुड़े: आयोग
आयोग के अनुसार यह मामला अंडर इन्वेस्टिगेशन है। पुलिस की तरफ से की पड़ताल व जुटाए तथ्यों की अपडेट लेने के लिए एसपी से बात हुई है। गहनता से जांच होगी। सोनाली ने सचिव के खिलाफ सबूत के तौर पर कुछ दस्तावेज पेश किए हैं, जोकि अलग-अलग महिलाओं संबंधित है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *