मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने लोगों से आग्रह करते हुए कहा कि सभी लोग भारत में बनी वस्तुओं का इस्तेमाल करें और चीनी वस्तुओं का लालच त्याग दें

मुख्यमंत्री खट्टर ने कोरोना वायरस जैसी घातक महामारी के प्रसार के लिए चीनी वस्तुओं को जिम्मेदार ठहराया है।

मुख्यमंत्री ने कुरूक्षेत्र विश्वविद्यालय में ‘‘कोरोना के बाद : आत्मनिर्भर भारत’’ विषय पर एक वेबिनार (ऑनलाइन संगोष्ठी) में कहा, ‘‘आत्मनिर्भरता हासिल करने के लिये हमें एक अभियान चलाना होगा और इसके लिये हमें अपने समक्ष कई अहम पहलू रखने होंगे। एक पहलू यह है कि प्रधानमंत्री ने स्थानीय वस्तुओं पर जोर देने के बारे में कहा है।’’
खट्टर ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ‘आत्मनिर्भर भारत’ की अपील आयातित वस्तुओं पर देश की निर्भरता कम करने और भारत द्वारा विश्व के लिये उत्पाद बनाने के लिये है। उन्होंने कहा, ‘‘हमें अपने देश, राज्य और तहसील तथा गांवों में विनिर्मित बड़े और छोटे उत्पादों का उपयोग करना होगा।’’

मुख्यमंत्री ने लोगों से चीनी वस्तुओं का उपयोग बंद करने की अपील करते हुए कहा, ‘‘हमें चीनी वस्तुओं के बारे में किसी भी तरह के लालच को त्यागना होगा क्योंकि इस पूर्वी एशियाई देश (चीन) ने कोविड-19 महामारी के बीच खुद को समूची दुनिया के खिलाफ कर दिया है।’’ खट्टर ने कहा, ‘‘कोरोना वायरस के चलते यह चीन बनाम विश्व हो गया है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘चीनी वस्तुओं के लिये हमें कोई लालच नहीं है, हमें उन्हें यहां नहीं मंगाना है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘यह वायरस चीन में उत्पन्न हुआ। यदि चीन ने इसे नियंत्रित किया होता तो यह वैश्विक महामारी का रूप नहीं लेगा।’’

खट्टर ने आत्मनिर्भरता पर जोर देते हुए कहा, ‘‘जब हम अपने पैरों पर खड़े हो जाएंगे तब हमारी अर्थव्यस्था बेहतर हो जाएगी और रोजगार के अवसर बढ़ेंगे।’’ उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा हाल ही में घोषित 20 लाख करोड़ रुपये के आर्थिक पैकेज का जिक्र करते हुए कहा, ‘‘किसी अन्य देश ने इतने बड़े पैकेज की घोषणा नहीं की है।’’ खट्टर ने हरियाणा में युवाओं द्वारा 4,119 स्टार्टअप का पंजीकरण कराये जाने का भी जिक्र किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *