बारिश के बीच सिटी अनाज मंडी में लगी भीषण आग

अंबाला सिटी। सिटी अनाज मंडी में रविवार तड़के करीब चार बजे भीषण आग लग गई, जिससे मंडी में शेड के नीचे रखा 10 हजार क्विंटल गेहूं जलकर राख हो गया। यही नहीं शेड के नीचे रखा हैफेड का 13 लाख बारदाना और एक ट्रक भी जल गया। आग का कारण शॉर्ट सर्किट माना जा रहा है। आग इतनी भयंकर थी कि आसपास के जिलों से दमकल की 15 गाड़ियां मंगवानी पड़ी। तब जाकर शाम करीब चार बजे तक 12 घंटे में आग पर काबू पाया जा सका।

जानकारी के अनुसार अनाज मंडी में शेड के नीचे हैफेड का 34 हजार क्विंटल गेहूं का स्टॉक रखा था। हैफेड अधिकारियों के अनुसार मंडी में शेड के नीचे 2675 बारदाने की गांठें थी, जिनमें 13 लाख 37 हजार से ज्यादा बोरियां थीं। रविवार सुबह करीब चार बजे लगी आग से 10 हजार क्विंटल गेहूं और पूरा बारदाना जल गया। आग की सूचना तुरंत दमकल विभाग को दी गई और दमकल विभाग की गाड़ियों ने मौक पर पहुंचकर स्थिति पर काबू पाने का प्रयास किया, लेकिन आग बढ़ती गई। इसके बाद कुरुक्षेत्र, कैथल, यमुनानगर, नारायणगढ़, पंचकूला और सेना से भी दमकल गाड़ियों को बुलाना पड़ा। इसके बाद 15 फायर टेंडरों ने 100 से अधिक फेरे लगाकर करीब 12 घंटे में आग पर काबू पाया। हालांकि बारिश के कारण आग बुझाने में थोड़ी मदद जरूर मिली।
चार करोड़ के बारदाने जले
इस आग में सबसे ज्यादा बारदाना जला। हैफेड अधिकारियों के अनुसार शैड के नीचे 2675 बारदाने की गांठें थी। एक गांठ में 500 बारदाने के हिसाब से 13,37,500 बारदानों की संख्या हुई। एक बोरी की कीमत 30 रुपये है, इसलिए यह चार करोड़ की थी। इसके अलावा करीब 10 हजार क्विंटल गेहूं से भरी बोरियां भी जलकर खाक हो र्गइं। इस तरह कुल करीब 7 करोड़ रुपये नुकसान बताया जा रहा है। वहीं एक ट्रक व शेड सहित अन्य सामान इस आग की भेंट चढ़ गया। यह बारदाना धान की फसल के लिए एडवांस में रखा गया था।
मौके पर पहुंचे प्रशासनिक अधिकारी
आग की सूचना पर प्रशासन समेत हैफड के अधिकारी मौके पर पहुंचे। इस दौरान नगर निगम के ज्वाइंट कमिश्नर सितेंद्र सिवाच, हैफेड एमडी वेदपाल समेत अन्य अधिकारी निरीक्षण करते रहे। वहीं विधायक असीम गोयल ने भी अनाज मंडी का दौरा किया।
आग में ज्यादा नुकसान बारदाने को हुआ है। गेहूं की काफी बोरियों को हमने बचा लिया है। आग का कारण शॉर्ट सर्किट ही मान रहे हैं।
– वेदपाल मलिक, डीएम, हैफेड

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *