ड्रोन और फाइटर जेट से अमरीका की बढ़ सकती है चिंता

ईरान के इस्लामिक रेवोल्यूशनरी गार्ड्स कॉर्प्स (आईआरजीसी) ने चार नए सैन्य हथियारों के बारे में जानकारी सार्वजनिक की है. इनमें से एक जासूसी ड्रोन है जो 12,000 फ़ुट की ऊंचाई से भी काम कर सकता है. ईरान की शीर्ष सेना ने ये हथियार ऐसे वक्त पेश किए हैं जब संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के ईरान पर हथियारों की ख़रीद के लिए लगाए गए प्रतिबंध को बढ़ाए जाने पर चर्चाएं तेज़ हो गई हैं.

शनिवार को आईआरजीसी कमांडर मेजर जनरल हुसैन सलामी ने इन स्वदेशी हथियारों के बारे में बताया जिन्हें आईआरजीसी ग्राउंड फ़ोर्स के रिसर्च एंड सेल्फ़-सफ़िसिएंशी जिहाद ऑर्गनाइज़ेशन ने बनाया है.

इन हथियारों में एक बीटीआर-50 टैंक है जो मकरान टैंक का एक नया वर्ज़न है. इसकी बॉडी को एक नया लुक दिया गया है.

इसमें फ़ायर कंट्रोल सिस्टम, थर्मल नाइट-विजन कैमरा और दूरी मापने के लिए एक लेज़र प्रणाली है जिसके ज़रिए ये ज़मीन और हवा में निशाना बनाने में सक्षम है. इस टैंक में 30 एमएम कैलिबर की ऑटोमैटिक तोप और 7.62 कैलिबर की मशीनगन हैं जो टैंक के अंदर से गनर नियंत्रित कर सकता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *